Cricket

कराची: पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मैनेजर मोइन खान ने कहा कि टेस्ट और एकदिवसीय कप्तान मिसबाह उल हक को कप्तानी से हटाना सही नहीं है लेकिन उन्होंने इस बल्लेबाज को नेतृत्वकर्ता के रूप में अपने दृष्टिकोण में बदलाव लाने की सलाह दी। पूर्व टेस्ट कप्तान मोइन पीसीबी के कार्यवाहक अध्यक्ष नजम सेठी से लाहौर में मिले और उन्होंने जिम्बाब्वे के हाल के दौरे में टीम के प्रदर्शन पर रिपोर्ट सौंपी।

मोइन ने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि हर समय बदलाव करना हमारी क्रिकेट के लिये सही है। अभी केवल मिसबाह के रवैये में बदलाव की जरूरत है।’’ पाकिस्तान की जिम्बाब्वे की कमजोर टीम के हाथों टेस्ट मैच में हार के बाद मिसबाह और कोच डेव वाटमोर को कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। पाकिस्तान ने इसके अलावा जिम्बाब्वे से तीन एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला में एक मैच भी गंवाया था।

मोइन ने हालांकि संकेत दिये कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आगामी श्रृंखला में मिसबाह और वाटमोर को बदलने का कोई इरादा नहीं है। उन्होंने कहा कि मिसबाह बदलाव के लिये तैयार है। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने मिसबाह से बात की और सुधार लाने के प्रति उनका रवैया सकारात्मक है।’’

इस बीच बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा कि मोइन ने पीसीबी को सौंपी गई रिपोर्ट में मिसबाह और वाटमोर की आलोचना की हैं उन्होंने कहा, ‘‘मोइन ने अपनी रिपोर्ट में साफ किया है कि उन्हें लगता है कि मिसबाह और वाटमोर टीम का मनोबल बढ़ाने और प्रदर्शन में सुधार करने में नाकाम रहे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मोइन ने इसके साथ ही टी20, वनडे और टेस्ट तीनों प्रारूपों के लिये अलग अलग कप्तान नियुक्त करने का सुझाव भी दिया है।’’