Hockey

इपोह: पाकिस्तान के खिलाड़ी पहली हॉकी इंडिया लीग में भाग नहीं ले पाए थे और पूरी संभावना है कि वह अगले साल भी इस प्रतियोगिता में भाग नहीं ले पाएंगे क्योंकि पाकिस्तान हॉकी महासंघ (पीएचएफ) अपने खिलाडिय़ों को भारत नहीं भेजना चाहता है।

पीएचएफ सचिव आसिफ बाजवा ने कहा कि दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति को देखते हुए महासंघ अगले साल 23 जनवरी से 23 फरवरी के बीच होने वाले दूसरे एचआईएल के लिए अपने खिलाडिय़ों को भेजने का इच्छुक नहीं है। बाजवा ने एशिया कप हॉकी टूर्नामेंट के दौरान कहा, ‘‘हमें हॉकी इंडिया से अगली हॉकी लीग के लिए पाकिस्तानी खिलाडिय़ों को अनापत्ति प्रमाणपत्र देने के संबंध में संदेश मिला है लेकिन दोनों देशों के बीच स्थिति में सुधार होने तक हम अपने खिलाड़ी भेजेंगे इसकी संभावना बहुत कम है। अभी की स्थिति के हिसाब से हम अगले साल लीग में अपने खिलाड़ी नहीं भेजेंगे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमने देखा था कि पिछली बार क्या हुआ था। हम वास्तव में अपने खिलाडिय़ों को लेकर चिंतित थे। वर्तमान स्थिति को देखते हुए क्या गारंटी है कि फिर से ऐसा नहीं होगा। हमें अपने खिलाडिय़ों को भरोसा देना होगा कि भारत में वे सुरक्षित हैं।’’ इस साल के शुरू में भारत पाक सीमा पर तनाव के कारण हॉकी इंडिया को एचआईएल में भाग लेने के लिए आए पाकिस्तानी खिलाडिय़ों को वापस स्वदेश भेजना पड़ा था।