Sports

इपोह: भारत की विश्व कप में सीट लगभग तय हो गई है लेकिन वह कल मौजूदा चैंपियन दक्षिण कोरिया के खिलाफ होने वाले एशिया कप हॉकी टूर्नामेंट के फाइनल में जीत दर्ज करके अगले साल होने वाले हॉकी महाकुंभ के लिए सीधे क्वालीफाई करने की कोशिश करेगा। पाकिस्तान की कल दक्षिण कोरिया के हाथों सेमीफाइनल में 2-1 की हार से भारत और मलेशिया ने हालैंड के हेग में होने वाले विश्व कप के लिए एक तरह से क्वालीफाई कर लिया है।

 

रिकार्ड चार बार का चैंपियन पाकिस्तान 1971 में इस टूर्नामेंट की शुरूआत के बाद पहली बार विश्व कप में नहीं खेलेगा। कोरिया पहले ही विश्व कप में जगह बना चुका है और ऐसे में पाकिस्तान एशिया कप जीतकर ही विश्व कप में जगह बना पाता। लेकिन उसकी हार से भारत और मलेशिया के दरवाजे खुल गए और उन्हें नवंबर में ओसियाना कप की समाप्ति के बाद अंतर्राष्ट्रीय हाकी महासंघ (एफआईएच) से आधिकारिक पुष्टि का इंतजार रहेगा। सरदार सिंह की अगुवाई वाली टीम हालांकि नवंबर तक का इंतजार करने के मूड में नहीं होगी और वह दक्षिण कोरिया को हराकर कल ही हेग का टिकट पक्का करना चाहेगी।

 

पिछली बार 2009 में सातवें स्थान पर रहने वाली भारतीय टीम जब कोरिया से भिड़ेगी तो इस टूर्नामेंट में अपना रिकार्ड सुधारने की बात भी उसके दिमाग में रहेगी। भारत ने आखिरी बार चेन्नई में 2007 में एशिया कप जीता था। उसने इस बार लीग चरण में कोरिया को 2-0 से हराया जिसका उसे फाइनल में मनोवैज्ञानिक लाभ मिलेगा।