Sports

नई दिल्ली: शीर्ष चक्का फेंक एथलीट कृष्णा पूनिया को आज प्रतिष्ठित राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए उनकी सिफारिश के लिए ओलंपियन का समर्थन मिला है, जिसमें लंदन ओलंपिक खेलों के पदकधारी योगेश्वर दत्त भी शामिल हैं।

शीर्ष ओलंपियन और अर्जुन पुरस्कार प्राप्त कर चुके खिलाडिय़ों का मानना था कि पूनिया की डबल ट्रैप निशानेबाज रंजन सोढ़ी के साथ देश के शीर्ष खेल सम्मान के लिये सिफारिश की जानी चाहिए जिनके नाम की सिफारिश पहले ही चयन पैनल ने विवादास्पद हालात में कर दी है।

योगेश्वर ने प्रेट्र से कहा, ‘‘पूनिया इसकी हकदार है और उन्होंने राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीता था और लंदन ओलंपिक में छठा स्थान हासिल किया। यह कोई छोटी उपलब्धि नहीं हैं। पूरा कुश्ती समुदाय उनके साथ है और हम खेल मंत्री से आग्रह करेंगे कि चयन पैनल के फैसले पर दोबारा विचार किया जाये। ’’

लंदन ओलंपिक के कांस्य पदकधारी पहलवान ने कहा, ‘‘मेरा सुझाव है कि पूनिया को सोढ़ी के साथ पुरस्कार से सम्मानित किया जाना चाहिए जैसा 2009 में सुशील कुमार, मैरीकाम और विजेंदर सिंह को पुरस्कार मिला था। वह नयी दिल्ली 2010 राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली महिला एथलीट है। ’’

योगेश्वर के साथी पहलवान और दो बार की ओलंपिक पदकधारी सुशील कुमार ने भी पूनिया का समर्थन किया था। द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता कुश्ती कोच यशबीर सिंह, जूडो के मुख्य राष्ट्रीय कोच और अर्जुन पुरस्कार हासिल कर चुके यशपाल सोलंकी और एशियाई खेलों के स्वर्ण पदकधारी मुक्केबाज राजकुमार सांगवान ने भी यही बात कही।