Sports

नई दिल्लीः भारत के शीर्ष रैकिंग के एकल खिलाड़ी प्रजनेश गुणेश्वरन नौ स्थान के फायदे से आज जारी नवीनतम एटीपी टेनिस रैंकिंग में 84 वें स्थान पर पहुंच गए जबकि प्रजनेश गुणेश्वरन ने करियर की सर्वश्रेष्ठ 169 वीं रैंकिंग हासिल की। प्रजनेश को आज जारी रैंकिंग में 14 स्थान का फायदा हुआ है।  युकी फ्रेंच ओपन के पहले दौर में हार गए थे लेकिन सुरबिटोन चैलेंजर के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने में सफल रहे जिससे उन्हें इन दो टूर्नामेंट से 30 रैंकिंग अंक मिले।      

रामनाथन को 7 स्थान का नुकसान
रोलां गैरो में ‘ लकी लूजर ’ के रूप में अपने पहले ग्रैंडस्लैम में खेलने से चूके प्रजनेश के लिए सत्र का पहला हाफ अच्छा रहा है और इस दौरान उन्होंने अपना पहला एकल चैलेंजर खिताब जीतने के अलावा आईटीएफ फ्यूचर्स खिताब भी जीता। प्रजनेश ने स्टुटगार्ट में अपनी पहली विश्व टूर प्रतियोगिता के लिए भी क्वालीफाई किया।   रामकुमार रामनाथन सात स्थान के नुकसान से 128 वें पायदान पर हैं जबकि युवा सुमित नागल 14 स्थान लुढ़ककर 234 वें नंबर पर काबिज हैं।      

युगल में रोहन बोपन्ना दो स्थान के फायदे से 22 वें स्थान के साथ भारतीय युगल खिलाडिय़ों में शीर्ष पर हैं। दिविज शरण दो स्थान के नुकसान से 43 वें , लिएंडर पेस तीन स्थान के नुकसान से 59 वें जबकि पूरव राजा 12 स्थान के नुकसान से 77 वें स्थान पर हैं। विष्णु वर्धन एक बार फिर युगल में शीर्ष 100 में जगह बनाते हुए दो स्थान के फायदे से 99 वें स्थान पर पहुंच गए। इससे पहले इस साल फरवरी में उन्होंने 100वीं रैंकिंग हासिल की थी। डब्ल्यूटीए रैंकिंग में अंकिता रैना 203 वें स्थान के साथ भारत की शीर्ष एकल खिलाड़ी हैं। उन्हें पांच स्थान का फायदा हुआ हैं। उनके बाद करमन कौर थंडी (262), प्रांजला यादलापल्ली (393) और रुतुजा भोसले (403) का नंबर आता है।      
 

.
.
.
.
.