IPL 2019
Sports

नई दिल्ली: इंग्लैंड में 30 मई से होने वाले एकदिवसीय विश्व कप के लिए महेंद्र सिंह धोनी के बैकअप माने जा रहे युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने कहा है कि वह स्थिति के अनुसार खेलना जानते हैं और जल्द ही खुद को हालात से ढाल लेते हैं। वहीं ऋद्धि भाई चोटिल ना होते तो नहीं मिलती टीम में जगह।

PunjabKesari
पंत ने बहुत कम समय में ही अपने खास अंदाज से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी विशेष पहचान बना ली है। पंत करीब नौ महीने पहले गर्मियों के मौसम में खुद के लिए जैसे किसी मौके का इंतजार ही कर रहे थे कि तभी विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा के चोटिल होने के कारण उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट टीम में मौका मिला और उन्होंने दोनों हाथों से इस मौके को भुना लिया। एक वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में पंत ने कहा, ‘मैं उस समय इंग्लैंड में था और भारत ए की ओर से एकदिवसीय मैच खेल रहा था। ऋद्धि भाई चोटिल हो गए थे और चयनकर्ताओं ने मुझे बताया कि मैं तैयार रहूं, मुझे टेस्ट टीम में शामिल किया जा सकता है। उन्होंने मुझे चार दिवसीय मैच के लिए भी टीम में शामिल कर लिया।’

युवा विस्फोटक बल्लेबाज ने कहा, ‘वह इंग्लैंड लायंस के खिलाफ चार दिवसीय मैच के पहले दिन की सुबह थी। यह उनकी करीब मुख्य टीम ही थी। टीम में एलेस्टेयर कुक, क्रिस वोक्स, सैम करेन, ओली पोप और डेविड मलान जैसे सभी खिलाड़ी शामिल थे। हम टॉस हार चुके थे और मैदान पर जाने ही वाले थे कि तभी राष्ट्रीय चयनकर्ता सरनदीप सिंह (नन्नू पा) ने मुझे बुलाया। उन्होंने कहा एक मिनट के लिए इधर आओ। उन्होंने मुझे भारत की टेस्ट टीम में चुने जाने की सूचना दी। उस समय मैं इतना खुश हुआ कि मैंने नन्नू पा को गले लगा लिया।’

.
.
.
.
.