Sports

नई दिल्लीः तीरंदाजी की विश्व संचालन संस्था ने भारतीय तीरंदाजी संघ (एएआई) के हाल में हुए चुनावों को मान्यता देने से इनकार कर दिया और इससे एएआई पर निलंबन भी लग सकता है। विश्व तीरंदाजी ने बीवीपी राव को सूचित किया कि वह हाल में हुए चुनावों को स्वीकार नहीं करती क्योंकि वे आम सभा की मंजूरी के बिना आयोजित किये गये थे। 22 दिसंबर को हुए एएआई के चुनाव में राव को अध्यक्ष चुना गया था।           

विश्व संस्था ने एक पत्र में कहा, ‘‘मुझे खेद है कि आपको यह सूचित करना पड़ रहा है कि विश्व तीरंदाजी कार्यकारी बोर्ड इस समय 22 दिसंबर को हुए आम सभा चुनाव के नतीजों को स्वीकार नहीं कर सकते, साथ ही अध्यक्ष के तौर पर आपके चयन तथा बोर्ड के सभी सदस्यों को स्वीकार नहीं कर सकते। ’’ विश्व तीरंदाजी ने कहा कि यह फैसला इसलिये लिया गया क्योंकि चुनाव आयोजित कराने के लिए जिस संविधान का इस्तेमाल किया गया, उसे ‘कभी भी अधिकारिक रूप से मंजूरी’ नहीं दी गयी थी और इसे केवल निर्वाचन अधिकारी ने ही स्वीकार किया था।  
Archery image         

विश्व तीरंदाजी के महासचिव टॉम डिलेन द्वारा लिए पत्र के अनुसार, ‘‘हम इस मामले की पुष्टि के लिये 25 जनवरी 2019 से पहले आपसे 22 दिसंबर को आम सभा के पूरे मिनट मुहैया कराने के लिए कहेंगे। ब्यौरा मिलने के बाद विश्व तीरंदाजी कार्यकारी बोर्ड इसके बाद विश्व तीरंदाजी कार्यकारी बोर्ड भारतीय तीरंदाजी संघ के संभावित निलंबन पर फैसला करेगा। ’’ इसका मतलब होगा कि 22 दिसंबर को चुने गये एएआई के अधिकारी अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के लिये भारतीय तीरंदाजों का चयन नहीं कर पायेंगे।           


 

.
.
.
.
.