Sports

मुंबईः भारतीय क्रिकेट में तीनों प्रारूप के कप्तान विराट कोहली ने माना है कि वह लगातार क्रिकेट सीरीज और दौरों के बोझ को महसूस कर रहे हैं और फिलहाल काम से मिले संक्षिप्त विश्राम का भरपूर मजा ले रहे हैं। विराट ने यहां एक प्रमोशनल कार्यक्रम में कहा कि वह इस समय संक्षिप्त विश्राम का मजा ले रहे हैं जो उनके लगातार काम करने के बोझ से मानसिक और शारीरिक तौर पर उबरने के लिए जरूरी है। भारतीय बल्लेबाका फिलहाल श्रीलंका में चल रही त्रिकोणीय टी20 निदाहस ट्रॉफी का हिस्सा नहीं हैं और उनकी जगह रोहित शर्मा टीम की कप्तानी संभाल रहे हैं।

अब काफी सतर्क रहने की जरूरत
कप्तान ने कहा कि शारीरिक रूप से मुझे कुछ दिक्कतें महसूस हुई हैं और मैं उनसे उबरने का प्रयास कर रहा हूं। मुझे अब काम का बोझ थोड़ा परेशान करने लगा है। मुझे इसके लिए अब काफी सतर्क रहने की जरूरत है कि कैसे मैं अपने शरीर, क्रिकेट और दिमाग को संतुलित और सहज रखते हुए आगे बढूं। फिलहाल क्रिकेट से बाहर विश्राम कर रहे विराट ने कहा, ''यह समय मेरे लिए बहुत अहम है। मैं इसका पूरा मजा ले रहा हूं। मुझे इस आराम की बहुत जरूरत थी। मैं इस समय का पूरा आनंद ले रहा हूं।' दक्षिण अफ्रीका के करीब दो महीने लंबे दौरे के बाद विराट को मौजूदा सीमित ओवर सीरीका से बाहर आराम दिया गया है। उनके अलावा महेंद्र सिंह धोनी, जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार, हार्दिक पांड्या और कुलदीप यादव को भी निदाहस ट्राफी से बाहर रखा गया है।

विराट और टीम के कुछ सीनियर खिलाड़ियों ने पहले भी लगातार सीरीज कराने और काम का अतिरिक्त बोझ डालने को लेकर भारतीय बोर्ड से नाराजगी व्यक्त की थी। दक्षिण अफ्रीका दौरे पर जाने से पहले श्रीलंका सीरीज के बीच में खिलाड़ियों को चार दिन से भी कम समय का आराम मिला था जिसे लेकर उन्होंने नाराजगी जताई थी। विराट ने उस समय कहा था कि वह रोबोट नहीं है और उन्हें भी आराम की जरूरत है। मौजूदा निदाहस ट्राॅफी के बाद अप्रैल से मई तक भारतीय क्रिकेटरों को इंडियन प्रीमियर लीग में खेलना है। इसके बाद जून में वह अफगानिस्तान के पदार्पण टेस्ट के लिए मेकाबानी करेंगे। टीम इंडिया फिर जुलाई में इंग्लैंड दौरे में तीन टी 20, तीन वनडे और पांच टेस्टों की सीरीका खेलेगी।

.
.
.
.
.