Sports

गुवाहाटी : भारतीय महिला क्रिकेट टीम के इंग्लैंड से 0-3 से टी-20 सीरीज हारने के बाद टीम के कोच डब्ल्यूवी रमन ने कहा है कि टीम को अपने प्रदर्शन में सुधार करने की जरुरत है। शनिवार को गुवाहाटी में खेले गए सीरीज के तीसरे और आखिरी टी-20 मैच मुकाबले में भारतीय टीम को आखिरी ओवर में मात्र तीन रन की जरुरत थी और उसके पास पांच विकेट हाथ में थे लेकिन इंग्लैंड की गेंदबाज केटी क्रॉस ने अपने ओवर में घातक गेंदबाजी करते हुए सिर्फ एक रन देकर दो विकेट चटकाए, जिसके कारण भारतीय टीम लडख़ड़ा गई और अपना मैच एक रन से हार गई।

कोच रमन ने कहा, ‘खिलाडिय़ों ने अच्छा खेल खेला लेकिन टी-20 क्रिकेट में दबाव में बेहतर खेल खेलने की जरुरत होती है। यह युवा टीम है, इन्हें अभी बहुत कुछ सीखना है। टीम ने उस तरह का प्रदर्शन नहीं किया जिस तरह का कर सकते थे जिसके कारण टीम को 0-3 से सीरीज गंवानी पड़ी।’ रमन ने कहा, ‘सबसे पहले तो टीम को अपने प्रदर्शन में सुधार करने की जरुरत है। प्रदर्शन में सुधार होगा तो खेल में चीजें आसान होंगी। टीम में खिलाडिय़ों को पता है कि क्या करना है। लेकिन नीति तब तक नहीं बदली जा सकती जब तक तकनीकी आधार ठीक नहीं हो जाता।’ कोच ने साथ ही कहा कि युवा खिलाडिय़ों को अनुभव से सीखने की जरुरत है।

उन्होंने कहा, ‘नए खिलाडिय़ों को थोड़े अनुभव की जरुरत है जिससे उन्हें दबाव और चुनौती में खेलने का अनुभव हो सके। अगर उन्होंने दबाव में खेलना सीख लिया तो यह भविष्य में टीम के लिए लाभकारी साबित होगा।’ अनुभवी मिताली राज के लिए रमन ने कहा, ‘हमने उनके बारे में चर्चा की है कि वह किस नंबर में पर खेलना चाहती हैं। चूंकि हरमनप्रीत कौर टीम में मौजूद नहीं है ऐसे में टीम को मध्य क्रम में किसी अनुभवी खिलाड़ी की जरुरत है। इसलिए हमने उन्हें चौथे नंबर पर खेलने भेजा।’ रमन ने कहा, ‘जाहिर है कि उन्हें दूसरों को समर्थन की भी जरुरत है लेकिन दुर्भाग्य से उसे उस तरह का समर्थन नहीं मिल रहा है। विशेष खिलाड़ी के तौर पर उन्हें मैदान में टिकना होता है और टीम को आगे ले जाना पड़ता है।’

.
.
.
.
.