Sports

नई दिल्लीः एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता जिनसन जाॅनसन ने कहा कि वह अब 800 मीटर में हिस्सा नहीं लेंगे और सिर्फ 1500 मीटर दौड़ में ध्यान नहीं लगाएंगे क्योंकि वह तोक्यो ओलंपिक में इस स्पर्धा में स्वयं को पदक का दावेदार मानते हैं। जकार्ता में जानसन 800 मीटर और 1500 मीटर दोनों में स्वर्ण पदक के प्रबल दावेदार थे लेकिन हमवतन मनजीत सिंह ने 800 मीटर में उन्हें पछाड़ दिया। जानसन ने हालांकि 1500 मीटर में तीन मिनट 44 .72 सेकेंड के समय में साथ स्वर्ण पदक जीता।

PunjabKesari

भारतीय सेना द्वारा आयोजित सम्मान समारोह के इतर जाॅनसन ने कहा, ‘‘अगर आप ओलंपिक पर ध्यान लगा रहे हैं तो फिर 800 मीटर और 1500 मीटर दोनों में हिस्सा लेने का कोई मतलब नहीं है। मैंने अपने कोचों से बात की है और फैसला किया है कि तोक्यो ओलंपिक के लिए मेरा ध्यान सिर्फ 1500 मीटर पर रहेगा। मेरा मानना है कि तोक्यो में मैं पदक का दावेदार हूं।’’ ओलंपिक की चुनौती एशियाई खेलों से बिलकुल अलग है लेकिन जानसन अपने समय के कारण आश्वस्त हैं।

PunjabKesari

उन्होंने कहा, ‘‘रियो ओलंपिक के पदक विजेताओं को देखो। स्वर्ण पदक विजेता (अमेरिका के मैथ्यू सेंट्रोविज) ने तीन मिनट 50 .00 सेकेंड का समय लिया था। अब एशियाई खेलों में मेरा समय देखिए। यह तीन मिनट 44 .72 सेकेंड है।’’ जानसन ने कहा, ‘‘1500 मीटर में सब कुछ समय नहीं होता। बीच की दूरी की दौड़ में रणनीति अहम होती है। ओलंपिक पदक जीतने के लिए विश्व रिकार्ड बनाना जरूरी नहीं है। जैसे कि मेरा निजी सर्वश्रेष्ठ तीन मिनट 37 .00 सेकेंड है जो राष्ट्रीय रिकार्ड भी है।’’ जानसन अब चेक आमंत्रण चैंपियनशिप के लिए कल रवाना होंगे। यह चैंपियनशिप आठ और नौ सितंबर को होगी।
 

.
.
.
.
.