Sports

जालन्धर : आईसीसी महिला टी20 वल्र्ड कप का एक समय फेवरेट समझी जाने वाली भारतीय टीम को सेमीफाइनल मुकाबले में इंगलैंड से 8 विकेट से हार झेलनी पड़ी। हार के लिए कई दिग्गज क्रिकेटर ने सीधे तौर पर प्रमुख खिलाड़ी मिताली राज को न खिलाना माना था। इस संबंधी कप्तान हरमनप्रीत पर उंगली उठी तो उन्होंने टीम हित में लिया गया था फैसला, बोलकर मामले से पल्ला झाड़ लिया। लेकिन यह मामला तब और बढ़ गया जब मिताली की मैनेजर अनीशा ने सीधे तौर पर हरमनप्रीत को झूठी बता दिया। विवाद बढ़ता देखकर आखिरकार बीसीसीआई ने मिताली को बाहर क्यों किया गया, इस पर रिपोर्ट बनाई है। रिपोर्ट में कहा गया कि मिताली को बाहर बिठाने का फैसला सर्वसम्मति से लिया गया था।

why mithali raj excluded from semi final team manager report reveals

रिपोर्ट में टीम मैनेजर तृप्टि भट्टाचार्य के हवाले से लिखा गया है कि मैंने कप्तान हरमनप्रीत कौर, उपकप्तान स्मृति मंधाना, कोच रमेश पवार और चयनकर्ता सुधा राय की एक मीटिंग करवाई थी। इस दौरान उक्त मैदान पर ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के बीच खेले गए पहले सेमीफाइनल की चर्चा हुई थी। क्योंकि पिच का मिजाज कुछ ऐसा था कि हमें अतिरिक्त गेंदबाज की जरूरत थी ऐसे में मिताली को बाहर रखने का फैसला किया गया। क्योंकि भारतीय बल्लेबाज पहले ही फॉर्म में चल रही थी, ऐसे में यह एक्सपैरीमैंट किया गया। 

PunjabKesarisports Mithali raj

बता दें कि मिताली को सेमीफाइनल जैसे महत्वपूर्ण मैच से बाहर रखने पर कप्तान हरमनप्रीत कौर विवादों में आ गई हैं। यह विवाद तब और भी बढ़ गया था जब हरमनप्रीत ने भारत की हार के बाद भी कहा था कि उन्हें अपने फैसले को कोई पछतावा नहीं है। हरमनप्रीत ने कहा कि हमने जो भी फैसला लिया, वह टीम के लिए था। कई बार ये काम करता है, कई बार नहीं करता है।

.
.
.
.
.