Sports

हैदराबाद:  भारतीय कप्तान विराट कोहली ने गुरुवार को कहा कि दुनिया भर में टेस्ट क्रिकेट इंग्लैंड में बनी ड्यूक गेंद से खेला जाना चाहिए। उन्होंने एसजी गेंदों की खराब गुणवत्ता पर नाखुशी जतायी, जिनका भारत स्वदेश में उपयोग करता है। कोहली ने विंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच से पहले कहा, "मेरा मानना है कि ड्यूक की गेंद टेस्ट क्रिकेट के लिये सबसे उपयुक्त है। मैं दुनिया भर में इस गेंद के इस्तेमाल की सिफारिश करूंगा। इसकी सीम कड़ी और सीधी है और इस गेंद में निरंतरता बनी रहती है।"

PunjabKesari

गेंद के इस्तेमाल को लेकर आईसीसी के कोई विशिष्ट दिशा-निर्देश नहीं हैं और हर देश अलग तरह की गेंदों का उपयोग करता है। भारत स्वदेश में बनी ‘एसजी’ गेंदों का इस्तेमाल करता है। इंग्लैंड और वेस्टइंडीज ड्यूक जबकि आस्ट्रेलिया, पाकिस्तान और श्रीलंका कूकाबूरा का उपयोग करते हैं। कोहली से पहले ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने कहा था कि वह एसजी की तुलना में कूकाबूरा से गेंदबाजी करते हुए बेहतर महसूस करते हैं।

PunjabKesari
अश्विन की शिकायत के बारे में पूछे जाने पर कोहली ने इस स्पिनर का समर्थन किया। कोहली ने कहा, "मैं पूरी तरह से उनसे सहमत हूं। पांच ओवर में गेंद घिस जाती है। ऐसा हमने पहले कभी नहीं देखा था। पहले जिस गेंद का उपयोग किया जाता था, उसकी गुणवत्ता काफी अच्छी थी और मुझे नहीं पता कि अब इसमें गिरावट क्यों आयी है।" उन्होंने कहा, "ड्यूक गेंद अब भी अच्छी गुणवत्ता वाली होती है। कूकाबूरा भी अच्छी गुणवत्ता की होती हैं। कूकाबूरा की जो भी सीमाएं (सीम सपाट हो जाना) हों, लेकिन उसकी गुणवत्ता से कभी समझौता नहीं किया जाता है।"    

PunjabKesari

.
.
.
.
.