Sports

जालन्धर : आईपीएल-11 की इससे बढिय़ा शुरुआत नहीं हो सकती। एक समय हार की कागार पर पहुंची चेन्नई सुपर किंग्स को पहले ड्वेन ब्रावो ने सहारा दिया। आखिरी ओवरों में जब ब्रावो साथ छोड़ गए तो टीम के लिए जख्मी केदार जाधव क्रीज पर उतर आए। जाधव मांसपेशियों में खिंचाव की शिकायत के कारण रिटायर्ट हर्ट हो गए थे। आखिरी ओवरों में जब सीएसके को केवल सात रन की जरूरत थी तो जाधव सीएसके के लिए संकट मोचन की भूमिका में आ गए। जाधव ने पहली कुछ गेंदें खाली भी छोड़ी लेकिन 20वें ओवर की तीसरी ही गेंद पर लैंग साइड पर उन्होंने छक्का लगाकर मैच को और रोमांचक बना दिया। इससे अगले ही गेंद पर उन्होंने चौका लगाकर सीएसके को जीत दिला दी। 

मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए अपने चार विकेट खो कर 165 रन  बनाए। मुंबई को पहला झटका तीसरे ओवर में लुईस (0) के रूप में लगा जिन्हें दिपक चाहर ने एल्बीडब्ल्यू आउट किया। इसके बाद रोहित शर्मा (15), ईशान किशन (40), सूर्यकुमार (43), हार्दिक पांड्या नाबाद 22 और क्रुणाल पांड्या ने नाबाद 41 रनों की पारी खेली।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई टीम के ड्वेन ब्रावो ने शानदारी पारी खेली, उन्होंने 7 चौकों और 3 छक्कों की बदौलत 30 गेंदों पर 68 रन बनाए। चेन्नई टीम के ओपनर अंबाती रायडू, शेन वाटसन मैदान पर आए। वाॅटसन 16 रन बनाकर, रैना 4 रन बनाकर हार्दिक पांड्या की गेंद पर कैच दे बैठे। तीसरे विकेट के रुप में चेन्नई को रायडू (22) का झटका लगा। कप्तान धोनी भी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए, वे 5 रन बनाकर आउट हो गए। जडेजा (12) अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे, लेकिन मुस्ताफिजुर रहमान की गेंद पर सूर्यकुमार को कैच दे बैठे। फिर दीपक चाहर (0) और हरभजन सिंह (8) और मार्क वुड (1) प्वेलियन लौटे। 

गेंदबाजी की बात करें तो मुंबई के हार्दिक पांड्या और मयंक मार्कंडेय ने तीन-तीन विकेट झटके। चेन्नई के गेंदबाजों में शेन वाॅटसन ने 2 विकेट लिए, जबकि दीपक चाहर और इमरान ताहिर ने एक-एक विकेट लिया। 

 

 

.
.
.
.
.