Sports

नई दिल्लीः भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि पिछले आस्ट्रेलियाई दौरे में उन्होंने कई गलतियां की थीं जिससे उन्होंने बहुत कुछ सीखा है और इससे उनके व्यवहार में काफी परिपक्वता आई है। विराट मौजूदा एडिलेड टेस्ट के तीसरे दिन शनिवार को आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ 1000 टेस्ट रन पूरे करने वाले चौथे भारतीय बल्लेबाज बन गए। हालांकि दोनों पारियों में भारतीय कप्तान ने संक्षिप्त 03 रन और 34 रन की पारियां खेलीं। पूर्व आस्ट्रेलियाई कप्तान एडम गिलक्रिस्ट के साथ साक्षात्कार में विराट ने कहा कि वह पिछले दो दौरों के बजाय मौजूदा दौरे में कहीं अधिक तैयार होकर आए हैं।

विराट ने कहा,‘‘ पिछले दौरों में मुझे इस बात की समझ नहीं थी कि कहां दायरा तय करना है। मैं यह नहीं कहूंगा कि मुझे पिछली बातों का पछतावा है लेकिन मैं इन्हें गलतियों की तरह देखता हूं। ये ऐसी गलतियां हैं जिनसे मैंने बहुत कुछ सीखा है।’’ उन्होंने कहा,‘‘मैंने अपनी गलतियों से सीखा है। मैंने माना कि कहां गलतियां की थीं और तब से लेकर मैं अब तक इनमें सुधार कर रहा हूं। हालांकि पिछले दो दौरों की तुलना में मैं मौजूदा समय में बहुत बदला हूं खासकर पहले दौरे में मेरा व्यवहार काफी खराब रहा था।’’
ashwin and kohli image

आस्ट्रेलिया के वर्ष 2012 में पहले दौरे के दौरान विराट दर्शकों के प्रति अपनी खराब प्रतिक्रिया और व्यवहार के कारण चर्चा में रहे थे। हालांकि 2014 के दूसरे दौरे में उन्होंने 692 रनों का प्रभावशाली प्रदर्शन किया था। 30 वर्षीय बल्लेबाज ने कहा,‘‘ पिछले दौरों में मैं युवा था और अपने हिसाब से चीजें कर रहा था। वह सब मेरे सफर का हिस्सा था। हालांकि मुझे इसका पछतावा नहीं है।’’


 

.
.
.
.
.