Sports

स्पोर्ट्स डेस्क(राहुल): भारतीय क्रिकेट टीम ने आस्ट्रेलिया की धरती पर पहली बार टेस्ट सीरीज जीतने का कारनामा किया। दोनों देशों के बीच हुई 4 मैचों की सीरीज में 2-1 से कंगारूओं का सफाया हुआ। इस दाैरान एक तरफ जहां खिलाड़ियों में आपसी मजाक देखने को मिला तो वहीं कुछ खिलाड़ियों ने दर्शकों को अपने प्रदर्शन से खुश करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। आज हम आपको बता रहे हैं उन 5 खिलाड़ियों के नाम जिन्होंने अपने प्रदर्शन की बदौलत सबका दिल जीता। 

जसप्रीत बुमराह
साल 2018 के शुरूआत में टेस्ट क्रिकेट में कदम रखने वाले तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने आस्ट्रेलिया को धाराशाही करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। बुमराह सभी गेंदबाजों से खतरनाक साबित हुए। मेलर्बन, सिडनी और पर्थ जैसी तेज पिचों पर बुमराह की रफ्तार 150 किमी. प्रति घंटे से भी ज्यादा रही जिसके आगे कंगारू ढेर हुए। बुमराह ने 4 मैचों में कुल 21 विकेट झटके। कपिल देव भी बुमराह के प्रदर्शन की तारीफ किए बिना नहीं रह सके।
jasprit bumrah image 

मयंक अग्रवाल
अग्रवाल को जैसे ही मेलर्बन में तीसरे टेस्ट के लिए ओपनिंग करने का मौका मिला तो उन्होंने उसका पूरा फायदा उठाया। मुरली विजय और केएल राहुल को खराब प्रदर्शन के कारण बाहर किया गया। ऐसे में टीम को मयंक ने मौका मिलने के बाद संभाला। डेब्यू करने उतरे मयंक ने तीसरे टेस्ट की पहली पारी में 76 और दूसरी पारी में 42 रनों की पारी खेली, जिसकी बदौलत 137 रन से जीत दर्ज कर भारत सीरीज में 2-1 की बढ़त बना सका । वहीं चौथे मैच की पहली पारी में भी मयंक ने 77 रनों की पारी खेली थी। मयंक विदेश में डेब्यू पारी में सर्वाधिक स्कोर बनाने वाले भारत के दूसरे सलामी बल्लेबाज बन गए हैं।
mayank agarwal image

मार्कस हैरिस
आस्ट्रेलिया भले ही सीरीज नहीं बचा पाया लेकिन उन्हें मार्कस हैरिस के रूप में अच्छा ओपनर मिला। 26 वर्षीय हैरिस को भारत के खिलाफ डेब्यू करने का मौका मिला। जहां सभी कंगारू भारतीय गेंदबाजों का सामना करने में फेल हुए वहां हैरिस डटकर सामना करते दिखे। उन्होंने 4 मैचों की 8 पारियों में 36.9 की औसत से 258 रन बनाए जिसमें 2 अर्धशतक भी शामिल रहे।
marcus harris image 

रिषभ पंत 
युवा भारतीय विकेटकीटपर पंत ने भी चयनकर्ताओं को लुभाने में कोई कसर नहीं छोडी़। पंत ने 4 मैचों में 58.33 की औसत से 350 रन बनाए जिसमें एक नाबाद 159 रनों की पारी भी है जो उन्होंने चौथे टेस्ट में खेली। इसी के साथ पंत विदेशी धरती पर सबसे बड़ी पारी खेलने वाले विकेटकीपर बने। इससे पहले यह रिकॉर्ड पाकिस्तान के खिलाफ धोनी का 148 रन था, जो उन्होंने 2006 में बनाया था। वहीं पंत किसी एक टेस्ट मैच में सर्वाधिक कैच पकड़ने वाले भारतीय विकेटकीपर भी बने। उन्होंने एडिलेड में हुए पहले टेस्ट में विकेट के पीछे कुल 11 शिकार किए।
rishabh pant image

नाथन लियोन
आस्ट्रेलिया के लिए गेंदबाजी में अगर कोई छाप छोड़ सका तो वो स्पिनर नाथन लियोन ही थे। लियोन ने 4 मैचों में 21 विकेट झटके और वह बुमराह के साथ संयुक्त रूप से सीरीज में सर्वाधिक विकेट निकालने वाले पहले गेंदबाज रहे। लियोन इस सीरीज में कोहली को परेशान करने में कामयाब रहे। वह इस दौरान कोहली को टेस्ट में सबसे ज्यादा 7 बार आउट करने वाले गेंदबाज भी बने। बाकी कंगारू बेशक खामोश दिखे लेकिन लियोन ने वही प्रदर्शन दोहराया जिसके लिए वो जाने जाते हैं।
nathan lyon image

.
.
.
.
.