Sports

नई दिल्ली: मैदान पर चौके-छक्‍कों की झड़ी लगाने वाले इस विस्फोटक बल्‍लेबाज क्रिस गेल को विंडीज की टीम में शायद ही जगह मिल सकती है। क्योंकि भारत और विंडीज के बीच टेस्ट सीरीज के बाद दोनों टीमों में वनडे सीरीज खेली जानी है। इस वनडे क्रिकेट सीरीज से पहले कैरिबियाई टीम को एक बड़ा झटका लगने के आसार हैं, जो जाहिर तौर पर टीम इंडिया के गेंदबाजों के लिए एक बड़ी राहत साबित हो सकती है। ख़बरो के मुताबिक विंडीज क्रिकेट टीम के विस्फोटक सलामी बल्लेबाज गेल जो बल्‍लेबाजी करते समय गेंदबाजों को दिन में तारे दिखा देते है वो भारत-विंडीज वनडे सीरीज में नहीं खेल पाएंगे । 
PunjabKesari
गेल ने भारत-विंडीज वनडे सीरीज की जगह 'एपीएल' यानी (अफगानिस्तान प्रीमियर लीग) में खेलने का फैसला किया है जिसका इस बार पहला संस्करण होगा । रिपोर्ट के मुताबिक गेल को 'एपीएल' में खेलने के लिए इजाजत (एनओसी) मिल चुकी है 
PunjabKesari
क्रिस गेल अफगानिस्तान प्रीमियर लीग में बल्ख लेजेंड्स टीम का हिस्सा हैं। वो आइकन खिलाड़ी के रूप में इस टीम में शामिल हुए हैं। उनके साथ इस टीम में कई और दिग्गजों के नाम शामिल हैं। कॉलिन मुनरो, मोहम्मद नबी, रवि बोपारा, मोहम्मद इरफान, बेन लॉलिन, रेयान टेन डस्चाटे जैसे धुरंधर खिलाड़ी भी इस टीम से खेलते नजर आएंगे।
PunjabKesari
लेकिन इसके साथ ही उनको ये भी साफ कह दिया गया है कि ऐसा करने पर अगले साल होने वाले विश्व कप में उनकी जगह निश्चित नहीं रहेगी। इसी साल अगस्त में गेल ने कहा था कि वो 2019 'आईसीसी' क्रिकेट विश्व कप में खेलना चाहते हैं।
PunjabKesari
वनडे सीरीज के बाद भारत के खिलाफ होने वाली 'टी20' अंतरराष्ट्रीय सीरीज के लिए क्रिस गेल विंडीज क्रिकेट टीम का हिस्सा जरूर होंगे। हाल ही में क्रिस गेल को विंडीज क्रिकेट टीम ने केंद्रीय अनुबंध नहीं दिया। सिर्फ गेल ही नहीं, बल्कि विंडीज क्रिकेट टीम ने कई अन्य खिलाड़ियों को भी केंद्रीय अनुबंध नहीं दिया जो भी दुनिया की किसी ना किसी 'टी20' क्रिकेट लीग से जुड़े हुए हैं।

.
.
.
.
.