Sports

नई दिल्ली : फेड कप में कजाखस्तान के कप्तान डियाज डोस्कारायेव ने कहा कि यह गलत धारणा है कि विश्व ग्रुप में जगह बनाने के लिए एशिया/ओसियाना ग्रुप सबसे आसान है जबकि यहां प्रतियोगिता का स्तर बहुत टफ है। डोस्कारायेव ने कहा कि इस प्रतियोगिता के लिए वह सर्वश्रेष्ठ एकल खिलाडिय़ों के साथ आए हैं लेकिन उन्होंने यह मानने से इंकार किया कि उनकी टीम मुकबला जीतने और विश्व ग्रुप दो के प्ले ऑफ में जगह बनाने की सबसे मजबूत दावेदार है। 

हम जीत के दावेदार नहीं : डोस्कारायेव 
कजाखस्तान की टीम में दुनिया की 50वें नंबर की यूलिया पिङ्क्षततसेवा और दुनिया की 60वें नंबर की जरीना डियास के अलावा गोजाल एनितदिनोवा और जिबेक कुलाम्बायेवा जैसी खिलाडिय़ों को जगह मिली है। यूलीया और जरीना एशिया/ओसियाना ग्रुप एक में शीर्ष रैंकिंग की खिलाड़ी है। डोस्कारायेव ने कहा, ‘‘हां, हमारी टीम में सर्वोच्च रैंकिंग के खिलाड़ी है लेकिन हम जीत के दावेदार नहीं। एशिया जोन में कोई भी मैच आसान नहीं होगा। हमारे तीसरे और चौथे खिलाड़ी ज्यादा अनुभवी नहीं है, इसलिए हम यूलीया और जरीना पर काफी निर्भर हैं।’’ भारतीय कप्तान अंकिता भांबरी ने साफ किया कि टीम घरेलू हालात का ज्यादा फायदा नहीं मिलेगा।  

कई तरह की चुनौतियां पेश आएंगी : भांबरी
फेड कप में देश का प्रतिनिधित्व चुकी भांबरी ने कहा, ‘‘ हमारे दोनों खिलाड़ी दूसरे टूर्नामेंट से आ रही हैं। हम यहां तीन दिनों से अभ्यास कर रहे। हमें कई तरह की चुनौतियां पेश आएंगी। ज्यादातर खिलाड़ी यहां कम खेलते है और बाहर ज्यादा, इसलिए हमें घर में खेलने का ज्यादा फायदा नहीं मिलेगा।’’ चीन की टीम आज सुबह यहां पहुंची। हालांकि उनकी बीमार कप्तान शओ-युआन अब तब टीम से नहीं जुड़ी है। टीम से जुड़े सहयोगी स्टाफ के सदस्य ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि यहां कड़े मुकाबले होंगे। उन्होंने कहा, ‘‘टीम के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी यहां है। हमारे मैच अच्छे होंगे। भारतीय खिलाडिय़ों को घरेलू परिस्थितियों का फायदा मिलेगा। वे अच्छे खिलाड़ी है और अच्छे नतीजे चाहते है।’’

जापान के कप्तान बोले- हमारी टीम संतुलित
हांगकांग टीम से पिछले कुछ साल से जुड़े भारत के करण रस्तोगी एक बार टीम से उम्दा प्रदर्शन की उम्मीद कर रहे है। उनकी देखरेख में 2014 में टीम ने सानिया मिर्जा की अगुवाई वाली भारतीय टीम को ग्रुप 2 के मुकाबले में हराया था। उन्होंने कहा, ‘‘भारत में वापस आना अच्छा है। पिछले साल हमने इस ग्रुप में जगह बनाई और गत दो साल से हमारी टीम में लगभग वही खिलाड़ी है। मैं खुश हूं कि हमारी खिलाड़ी (इयुडिस चोंग) सीधे अमेरिका से यहां आ रही है, यह प्रतिबद्धता दर्शाता है।’’ जापान के कप्तान तोशिहिसा त्सुचिआशि ने कहा कि उनकी टीम बहुत संतुलित है। उन्होंने कहा, ‘‘टूर्नामेंट में सभी टीमें मजबूत हैं लेकिन हमें उम्मीद है विश्व ग्रुप प्ले ऑफ में पहुंचने के अपने लक्ष्य को पा सकेंगे।’’ 

.
.
.
.
.