Sports

मेलबर्न: भारत के खिलाफ मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर हार के बाद आस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन ने रविवार को यहां स्वीकार किया कि उनके बल्लेबाज प्रतिबंध स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर की गैरमौजूदगी में मेहमान टीम के बेहद उम्दा गेंदबाजी आक्रमण का सामना करने में नाकाम रहे। भारत ने तीसरे टेस्ट में आस्ट्रेलिया को 137 रन से हराकर चार मैचों की श्रृंखला में 2-1 की अजेय बढ़त बनाई। विराट कोहली की अगुआई वाली टीम ने इसके साथ ही आस्ट्रेलिया में 70 दशक में पहली बार टेस्ट श्रृंखला जीतने की ओर मजबूत कदम बढ़ाए।

स्मिथ और वार्नर की गैरमौजूदगी से हम नाकाम रहे 
PunjabKesari
पेन ने कहा कि प्रतिबंध के कारण स्मिथ और वार्नर तथा कैमरन बेनक्राफ्ट की गैरमौजूदगी से टीम में अनुभवहीनता के कारण ऐसा है। इन तीनों को इस साल दक्षिण अफ्रीका के केपटाउन में गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण में भूमिका के कारण निलंबित किया गया है। बेनक्रॉफ्ट का प्रतिबंध शनिवार को खत्म हो गया जबकि स्मिथ और वार्नर का प्रतिबंध मार्च अंत तक जारी रहेगा।
PunjabKesari
पेन ने मैच के बाद में कहा, ‘यह अनुभवहीनता है। यह दबाव है। भारत का गेंदबाजी आक्रमण संभवत: इतना अच्छा है जितने अच्छे गेंदबाजों का सामना हमारे बल्लेबाजों ने अपने करियर में किया है। यह स्पष्ट है कि अगर आप दुनिया के किसी भी बल्लेबाजी क्रम से शीर्ष दो या तीन खिलाडिय़ों को हटा दो तो आपको परेशानी का सामना करना होगा और आपके प्रदर्शन में निरंतरता की कमी रहेगी। हम भी ऐसा ही देख रहे हैं।’ उन्होंने कहा, ‘पर्थ में बेहद मुश्किल विकेट पर हमारे शीर्ष छह बल्लेबाज डटकर खेले और काफी अच्छा प्रदर्शन किया। इसमें कोई संदेह नहीं कि इस मैच में हमने थोड़ा निराश किया। ऐसा होता है। हमें सुनिश्चित करना होगा कि हमारे अंदर सुधार हो तथा हमारे अच्छे और बुरे प्रदर्शन में अधिक अंतर नहीं हो, पिछले दो टेस्ट में जैसा हुआ वैसा नहीं हो। लेकिन मुझे लगता है कि जब विश्व स्तरीय गेंदबाजी के खिलाफ आपके शीर्ष छह में अनुभवहीन खिलाड़ी होते हैं तो ऐसा सामान्य है।’ 

पुजारा और विराट विश्व स्तरीय बल्लेबाज
PunjabKesari
पेन ने कहा कि भारत के पास चेतेश्वर पुजारा और विराट कोहली जैसे दो विश्व स्तरीय बल्लेबाज हैं जो भारतीय पारी के स्कोर को 400 रन के पार ले गए जबकि आस्ट्रेलिया को स्मिथ और वार्नर की कमी खली। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि अगर आप भारतीय टीम से पुजारा और विराट को हटा दो तो उनकी टीम के साथ भी ऐसा ही होगा। फिलहाल यह चुनौतीपूर्ण है और सभी हताश हैं। लेकिन यह ऐसा ही है और सभी कड़ी मेहनत कर रहे हैं और हमें ऐसे खिलाड़ी मिल रहे हैं जिन्हें टेस्ट क्रिकेट में बेहद दबाव वाली स्थिति का अनुभव मिल रहा है और वे काम के लिए तैयार हो रहे हैं।’

पेन को मलाल है कि उनकी टीम ने भारत को पहली पारी में सात विकेट पर 443 रन बनाने दिए जिसके बाद उनकी टीम मैच में पीछे ही रही। सिडनी में तीन जनवरी से शुरू हो रहे चौथे और अंतिम टेस्ट की पिच से स्पिनरों को मदद मिल सकती है और ऐसे में आस्ट्रेलिया ने लेग स्पिन आलराउंडर मार्नस लाबुशेन को टीम में शामिल किया है। पेन ने कहा, ‘मार्नस को टीम में शामिल किया गया है, वह हमारे साथ सिडनी जाएगा जिसके बाद हम हालात को देखेंगे। सुनने में आ रहा है कि वहां की पिच काफी स्पिन करेगी, इसलिए एक बार स्वयं देखने के बाद हम उस टेस्ट के लिए सर्वश्रेष्ठ संयोजन पर विचार कर सकते हैं।’

.
.
.
.
.