Sports

जालन्धर : न्यूजीलैंड के खिलाफ हैमिल्टन में खेला गया चौथा वनडे हारना टीम इंडिया पर भारी पड़ गया है। इससे पहले टीम इंडिया 3-0 की अजेय बढ़त लेकर आईसीसी वनडे रैंकिंग में नंबर वन पोजीशन के लिए आगे बढ़ रही थी। लेकिन हैमिल्टन वनडे में हार के साथ ही उनका यह इंतजार करीब पांच महीने आगे बढ़ गया है। अगर भारतीय टीम इस सीरीज को 5-0 क्लीन स्वीप करती तो उसके पास पहले नंबर पर काबित इंगलैंड की बराबरी का मौका मिलना था। इंगलैंड की रेटिंग अभी 126 हैं। जबकि भारतीय टीम की रेटिंग 121 बनी हुई है। ऐसे बदले समीकरण
PunjabKesari

दरअसल भारतीय टीम न्यूजीलैंड दौरे पर लगातार 3 मैच जीतकर अपने प्वाइंट 124 तक ले गई थी। अगले 2 मैच जीतते ही उनकी रेटिंग इंगलैंड के बराबर आ जानी थे। लेकिन एक हार के चलते भारतीय टीम को 3 अंक गंवाने पड़े। अब भारत को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली पांच वनडे मैचों की सीरीज का इंतजार करना पड़ा। लेकिन तभी इंगलैंड टीम पर भी बराबर नजर होगी जो अपनी रेटिंग बढ़ाए रखने के पूरे प्रयास करेगा। माना जा रहा है कि अब भारतीय टीम के पास विश्व कप के दौरान ही नंबर वन टीम बनने का मौका हाथ आएगा। 

न्यूजीलैंड को हुआ थोड़ा फायदा
PunjabKesari

न्यूजीलैंड की टीम भारत के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले अच्छी पोजीशन में थी। लेकिन लगातार तीन हार के चलते उनकी रेटिंग में जबरदस्त बदलाव आ गया। हालांकि हैमिल्टन वनडे में जीत हासिल कर उन्होंने 111 की रेटिंग बनाते हुए तीसरा स्थान बनाया हुआ है लेकिन अगर न्यूजीलैंड पांचवां वनडे नहीं जीता तो उसे दक्षिण अफ्रीका नीचे खिसका सकता है। दक्षिण अफ्रीका की भी रेटिंग 111 है। और वह भी संयुक्त तौर पर तीसरे स्थान पर है। हालांकि न्यूजीलैंड प्वाइंट में बेहतर प्रदर्शन के चलते अभी थोड़ा ऊपर बना हुआ है। 

.
.
.
.
.