Sports

जालन्धर : सुप्रीम कोर्ट द्वारा बीसीसीआई का फैसला पलटते हुए भारतीय तेज गेंदबाज श्रीसंथ से आजीवन बैन हटा दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने साथ ही कहा कि बीसीसीआई 3 महीने के अंदर श्रीसंथ का पक्ष सुने और मामले का निपटारा करे। वहीं, सुप्रीम कोर्ट के फैसले को अपने लिए लाइफ लाइन बताते हुए श्रीसंथ ने कहा कि वह अभी भी क्रिकेट खेलने की ख्वाहिश रखते हैं। श्रीसंथ ने इस दौरान अपने ट्विटर अकाऊंट पर एक वीडियो डालकर क्रिकेट फैंस को चौकाया भी। उन्होंने वीडियो में कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से वह बेहद खुश हैं लेकिन वह बताना चाहते हैं कि यह तो अभी ट्रेलर है। लौटूंगा जल्दी।

Supreme court lift life ban cover from Sreesanth

श्रीसंथ ने इस दौरान भारतीय टेनिस प्लेयर लिएंडर पेस की उदाहरण देते हुए कहा कि अगर पेस 42 साल की उम्र में ग्रैंडस्लैम जीत सकते हैं तो वह भी 36 साल की उम्र में क्रिकेट खेल सकते हैं। श्रीसंथ ने राहत की सांस लेते हुए कहा कि क्रिकेट मेरी जिंदगी रही है। अब छह साल हो चुके हैं। इस दौरान मैंने क्रिकेट नहीं खेला है। लेकिन अगर मैंने वापसी करनी हुई तो इसके लिए प्रयास जरूर करूंगा। 

Supreme court lift life ban cover from Sreesanth

बता दें कि 2013 में आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग के आरोप में श्रीसंत के अलावा मुंबई के स्पिनर अंकित चव्हाण और हरियाणा के अजीत चंदिला को बीसीसीआई की अनुशासनात्मक समिति ने आजीवन प्रतिबंधित कर दिया था। श्रीसंत ने इस फैसले को अदालत में चुनौती दी थी। पहले उन्हें हाईकोर्ट से राहत मिली फिर वह बैन हटवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट चले गए। वहां भी उनके हाथ सफलता लगी। 

.
.
.
.
.