Sports

नई दिल्ली : अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) की अनुशासनात्मक समिति ने गुरूवार को पांच आई लीग क्लबों पर 10-10 लाख रूपये का जुर्माना लगाया जबकि ईस्ट बंगाल को मार्च-अप्रैल में सुपर कप से नाम बाहर लेने के लिए पांच लाख रूपए देने को कहा गया। इन पांच क्लबों में पूर्व चैम्पियन ऐजल एफसी और मिनरवा पंजाब एफसी के अलावा चर्चिल ब्रदर्स, गोकुलम केरला एफसी और नेरोका एफसी अन्य क्लब हैं जिन पर 10-10 लाख रूपये का जुर्माना ठोका गया। 

समिति ने मोहन बागान के खिलाफ कोई फैसला नहीं दिया और इस मामले को मध्यस्थता के लिये भेजा गया क्योंकि कोलकाता की टीम ने भागीदारी के लिये हस्ताक्षर नहीं किये थे। आई लीग और आईएसएल टीमों के बीच आयोजित प्रीमियर नाकआउट क्लब टूर्नामेंट का यह सत्र काफी खराब रहा जिसमें सात क्लबों -मिनरवा पंजाब एफसी, ईस्ट बंगाल, मोहन बागान, चर्चिल ब्रदर्स, नेरोका एफसी, गोकुलम केरला एफसी और ऐजल एफसी- ने टूर्नामेंट का बहिष्कार करने का फैसला किया। 

छह पेज के फैसले में लिखा गया, ‘समिति ने इस तरह ऐजल एफसी, चर्चिल ब्रदर्स, गोकुलम केरला एफसी, मिनरवा पंजाब एफसी और नेरोका एफसी पर 10-10 लाख का जुर्माना लगाया जिसका इस्तेमाल जमीनीं स्तर पर फुटबाल के विकास और देश में युवा फुटबाल के बढ़ावे के लिये इस्तेमाल किया जायेगा जो उचित पारदर्शी तरीके से होगा।'

.
.
.
.
.