Sports

मुंबई: भारत के शीर्ष पुरूष बैडमिंटन खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत ने आज यहां कहा कि अगामी राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक के लिए खुद को फिट रखना उनकी प्राथमिकता है। श्रीकांत ने इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में कहा कि राष्ट्रमंडल खेलों को प्राथमिकता देते हुए उन्होंने कई हाल में कई अहम टूर्नामेंटों में भाग नहीं लिया जिससे वह रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंच सकते थे। उन्होंने कहा कि उनका लक्ष्य टूर्नामेंट क्वार्टफाइनल में पहुंचकर रैंकिंग अंक हासिल करने की जगह टूर्नामेंट में जीत कर नंबर एक रैंकिंग हासिल करना है।
विश्व रैंकिंग में तीसरे स्थान पर काबिज इस खिलाड़ी ने कहा, ‘‘ मेरे लिए राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में पदक जीतना ज्यादा जरूरी है। अगर मेरा लक्ष्य नंबर एक बनने का होता तो मैं पिछले साल फ्रांस ओपन के बाद चीन और हॉन्ग कॉन्ग ओपन में खेलता।’’  
उन्होंने कहा, ‘‘ मैं जिस तरह की फार्म में था मैं इन दोनों टूर्नामेंटों के क्वार्टरफाइनल तक पहुंच जाता और विश्व रैंकिंग में शीर्ष पर आ जाता। लेकिन मैं टूर्नामेंट में जीत के साथ रैंकिंग में पहले स्थान पर आना चाहता हूं इस लिए चोट से उबरने के लिए मैंने अपने शरीर को अतिरिक्त समय दिया।’’ 

.
.
.
.
.