Sports

नई दिल्लीः निर्भया कांड से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए एस श्रीसंत को बलि का बकरा बनाया गया। यह कहना है तेज गेंदबाज की भूमिका निभा चुके श्रीसंत की ही पत्नी भुवनेश्वरी का। उन्होंने बीसीसीआई को एक ओपन लेटर लिखते हुए न्याय करने की गुहार लगाई। भुवनेश्वरी ने दिल्ली पुलिस पर आरोप लगाते हुए लिखा- उस वक्त निर्भया रेप केस के चलते दबाव में आए अधिकारियों ने लोगों का ध्यान बांटने के लिए श्रीसंत को बलि का बकरा बनाया। 
sreesanth image

श्रीसंत ने 13 रन लुटाए थे, ना कि 14

भुवनेश्वरी ने इस पत्र में लिखा है कि 2013 के आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में उनके पति पर जो आरोप लगाए गए थे वो बेबुनियाद थे। उन्होंने लिखा कि दिल्ली पुलिस के मुताबिक श्रीसंत ने फिक्सिंग करने के लिए बुकी से 10 लाख रुपये लिए थे और उसके बदले 14 रन लुटाने का वादा किया था। हालांकि श्रीसंत ने मोहाली में खेले गए आईपीएल के उस मैच में 14 रन लुटाए ही नहीं। भुवनेश्वरी ने कहा कि उस समय सिर्फ 13 रन गए थे और वो भी किसी आम बल्लेबाज के खिलाफ नहीं बल्कि ऑस्ट्रेलिया के महान पूर्व बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट के खिलाफ उन्होंने ये 13 रन लुटाए थे जो एक सामान्य बात थी। यही नहीं मैच में कमेंट्री कर रहे कमेंटेटर्स ने भी श्रीसंत की उन गेंदों की जमकर तारीफ की थी।
sreesanth image

अपनी इस चिट्ठी में भुवनेश्वरी ने लिखा है कि श्रीसंत को फिक्सिंग के बारे में बात करते देख वह काफी दुखी महसूस कर रही हैं। मैं प्रार्थना करती हूं कि जिस दौर से श्रीसंत गुजरे हैं, उससे कोई और ना गुजरे। भुवनेश्वरी ने लिखा कि श्रीसंत को 2013 की आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में बेगुनाह बताया। न्याय देर से मिलना, न्याय ना मिलने के बराबर होता है। बीसीसीआई मामले को रोके हुए है और क्रिकेट एक ऐसा खेल होता है, जिसमें खेलने के लिए खिलाड़ी की एक उम्र सीमा होती है। अपने लेटर के अंत में भुवनेश्वरी ने बीसीसीआई से अपील की कि श्रीसंत को क्रिकेट खेलने की अनुमति दी जाए।
PunjabKesari

बता दें कि श्रीसंत ने 'बिग बाॅस 12' में भावुक होकर कहा था कि उन्होंने फिक्सिंग नहीं की थी। आरोपों में फंसने के बाद वह इस कदर परेशान हो गए थे कि अपना करियर खत्म होते देख उन्हें आत्हत्या करने के विचार आने लगे थे। 

.
.
.
.
.