Sports

मास्कोः इंग्लैंड के मैनेजर गैरेथ साउथगेट ने पेनल्टी शूटआउट में कोलंबिया पर 4-3 की जीत के साथ क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने के बाद कहा कि उनकी टीम को वह पुरस्कार मिला जिसकी वह हकदार थी। गोल्डन बूट की दौड़ में सबसे आगे चल रहे हैरी केन के पेनल्टी पर टूर्नामेंट के छठे गोल की बदौलत इंग्लैंड ने 57वें मिनट में बढ़त बनाई लेकिन येरी मिना ने अपनी लंबाई का फायदा उठाकर 93वें मिनट में हैडर से गोल दागकर कोलंबिया को बराबरी दिला दी। 

PunjabKesari

पेनल्टी शूटआउट में कोलंबिया के गोलकीपर डेविड ओस्पीना ने जोर्डन हेंडरसन की तीसरी पेनल्टी रोककर कोलंबिया को मजबूत स्थिति में पहुंचाया लेकिन इसके बाद उनके साथी खिलाड़ी मैनुएल उरिबे का शाट क्रास बार से टकरा दिया। इंग्लैंड के गोलकीपर जोर्डन पिकफोर्ड ने कार्लोस बाका का प्रयास नाकाम किया। एरिक डायर ने इसके बाद निर्णायक पेनल्टी किक को गोल में बदलकर 2006 के बाद टीम को पहली बार क्वार्टर फाइनल में जगह दिलाई। आठ पेनल्टी शूटआउट में यह इंग्लैंड की सिर्फ दूसरी जीत है।          

PunjabKesari

साउथगेट ने कहा, ‘‘यह वह रात थी जब मुझे पता था कि हम जीत दर्ज करेंगे। हमारे अंदर जीत दर्ज करने का आत्मविश्वास और जज्बा था।’’ इंग्लैंड ने इससे पहले लगातार पांच पेनल्टी शूटआउट गंवाए थे। साउथगेट ने इसलिए भी राहत की सांस ली क्योंकि यूरो 1996 में उनकी पेनल्टी रोककर ही जर्मनी ने फाइनल के लिए क्वालीफाई किया। साउथगेट ने कहा, ‘‘आज टीम के लिए विशेष लम्हा है। उम्मीद करता हूं कि इससे खिलाडिय़ों को आगामी मैचों के लिए आत्मविश्वास मिलेगा।’’

.
.
.
.
.