Sports

नई दिल्ली : भारत की पीवी सिंधू इस साल बेशक अब तक कोई खिताब न जीत सकी हों लेकिन वह स्विटजरलैंड के बासेल में 19 अगस्त से होने वाली विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में पदक हैट्रिक बनाने के इरादे से उतरेंगी। सिंधू ने विश्व चैंपियनशिप की तैयारी के लिए पिछले सप्ताह हुए थाईलैंड ओपन से अपना नाम वापस लिया था। सिंधू को विश्व चैंपियनशिप में पांचवीं वरीयता दी गयी थी और उन्हें पहले राउंड में बाई मिली थी। सिंधू इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में चार बार की पदक विजेता हैं। 

ओलंपिक रजत विजेता सिंधू ने इस टूर्नामेंट में 2013 और 2014 में कांस्य पदक जीते थे जबकि 2017 और 2018 में उन्होंने रजत पदक जीते थे। सिंधू पिछले वर्ष के आखिर में वल्डर् टूर फाइनल्स में खिताब जीतने के बाद अपने पहले खिताब की तलाश में है। वह गत माह इंडोनेशिया ओपन के फाइनल में पहुंची थीं लेकिन उन्हें जापान की अकाने यामागुची से हार का सामना करना पड़ा था। इसके ठीक बाद वह जापान ओपन के क्वाटर्रफाइनल में यामागुची से ही हारी थीं। 

विश्व चैंपियनशिप का ड्रॉ सोमवार को कुआलालम्पुर में विश्व बैडमिंटन महासंघ के मुख्यालय में निकाला गया था। सिंधू का टूर्नामेंट के क्वाटर्रफाइनल में दूसरी वरीयता प्राप्त और पूर्व नंबर एक चीनी ताइपे की ताई जू यिंग से मुकाबला हो सकता है। 

.
.
.
.
.