Sports

नई दिल्लीः अफगानिस्तान क्रिकेट टीम में खेलने वाले क्रिकेटर सिमी सिंह के पिता अमरजीत सिंह के अनुसार मेरे बेटे का सपना हमेशा से ही भारतीय क्रिकेट टीम के लिए खेलना था। चंडीगढ़ में अंडर-14 और 17 में खेलते हुए सिमी ने शानदार स्कोर भी किया था, लेकिन उसे आगे टीम में जगह नहीं मिली। इसके बाद भी इन्होंने बहुत प्रयास किये, लेकिन जगह नहीं मिल पाने के कारण आयरलैंड के लिए खेलने का निर्णय लिया और अब यहाँ मौके भी मिल रहे है।

सिमी के पिता ने बताया कि उसके क्रिकेट के जुनून को देखते हुए मेरे एक मित्र ने उसे आयरलैंड भेजने के बात कही, मुझे आइडिया सुनकर अजीब लगा, लेकिन बेटे का दिल न टूटे, इसलिए मैंने उसको दिल पर पत्थर रखकर आयरलैंड भेज दिया। वह पिछले साल अक्टूबर में घर आया था।
Sports
अब भारत के ही खिलाफ खेलेंगे सिमी
आयरलैंड ने भारत के खिलाफ दो टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए पंजाब में जन्में आफ स्पिनर सिमरनजीत ‘सिमी’ सिंह को भी जगह मिली है। सिमी अब पहली बार भारत के खिलाफ खेलते नजर आएंगे। जब वह मैदान पर उतरेंगे तो यह देखने वाली बात होगी कि क्या वो भारतीय टीम के खिलाफ उम्दा प्रदर्शन कर पाएंगे या नहीं।         

सिमी सिंह ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पदार्पण किया था लेकिन इस मैच के अलावा उन्हें किसी अन्य बड़ी टीम के खिलाफ खेलने का मौका नहीं मिला। वह अब तक सात एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय और चार टी 20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं। पंजाब के खरड़ जिले के बथलाना गांवा में जन्हें सिमी ने आठ वनडे जबकि छह टी 20 विकेट चटकाए हैं।          

.
.
.
.
.