Sports

 

अहमदाबाद : भारतीय फुटबाल टीम के कप्तान सुनील छेत्री ने शुक्रवार को अपने साथी खिलाड़ियों से कहा कि उन्हें पिछले मैच के दौरान की गयी गलतियों से सबक लेकर यहां इंटरकांटिनेंटल कप में उत्तर कोरिया के खिलाफ होने वाले मुकाबले में सुधार करने की कोशिश करनी चाहिए। छेत्री ने भारत को शुरूआती मैच में ताजिकिस्तान से मिली 2-4 की हार के दौरान दो गोल दागे।

उन्होंने कहा कि पूरी टीम इस हार से वापसी के लिए कड़ी मेहनत कर रही थी और उन्होंने खुद को शांत रखने की महत्ता पर जोर दिया। उन्होंने कहा, ‘हमें ताजिकिस्तान मैच में की गई सभी गलतियों से सीख लेने की जरूरत है और जहां तक संभव हो सके, उन्हें सुधार करने की कोशिश करनी चाहिए। व्यक्तिगत रूप से और सभी मिलकर हम इस पर कड़ी मेहनत कर रहे हैं। सबसे अहम चीज है कि शांत बने रहें और अपना काम करें।'

छेत्री ने मैच की पूर्व संध्या पर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘कोई भी आपकी मदद नहीं करेगा, जिसका मतलब है कि आपको खुद ही उठना होगा और उत्तर कोरिया के खिलाफ खुद को अच्छा मौका देना होगा ताकि सकारात्मक नतीजा आए।' उन्होंने कहा कि टीम मुख्य कोच इगोर स्टिमक द्वारा गेंद पर अधिक कब्जा बनाये रखने की नयी शैली का लुत्फ उठा रही है। छेत्री ने कहा, ‘हमारा ज्यादा ध्यान गेंद अपने पास रखने पर है। इसमें काफी मूव होते हैं और खिलाड़ी गेंद देने के लिये कहते रहते हैं। निश्चित रूप से कभी कभार आपको सुरक्षित होना पड़ता है और हम हर समय बेवजह डिफेंस में गेंद पास नहीं कर सकते।'

.
.
.
.
.