Sports

जालन्धर : यूएस ओपन के फाइनल में दिग्गज टेनिस प्लेयर सेरेना विलियम्स द्वारा दिखाई गई प्रतिक्रियाओं को जॉन मैकनेरो को गलत नहीं मानते हैं। उनका कहना है कि टेनिस में ऐसा होता रहता है। यह इतना बड़ा मामला नहीं है कि सैरेना को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए। बता दें कि यूएस ओपन में जापान की प्लेयर नाओमी ओसाका के खिलाफ मैच के दौरान सेरेना चेयर अंपायर से गुस्सा हो गई थी।

Serena Williams, should not apologize for his US open drama : John

सेरेना ने कहा था कि नाओमी अपने कोच से टिप्स ले रही है जोकि नियम अनुसार गलत है। सेरेना इस कद्र गुस्सा थी कि उन्होंने चेयर अंपायर कार्लोस रामोस को चोर तक कह दिया था। कार्लोस ने इसे शिष्टाचार के ऊलट मानकर सेरेना पर गेम पैनल्टी लगा दी थी। सेरेना ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रैंस में भी बेबाक बोलते हुए कार्लोस को जमकर धुना। सेरेना ने कहा- चेयर अंपायर झूठे हैं। उन्होंने कार्लोस पर लैंगिक पक्षपात का आरोप भी लगाया। सेरेना ने कहा कि अगर यही मैच पुरुषों के बीच खेला गया होता तो अंपायर का निर्णय कुछ और होता। 

Serena Williams, should not apologize for his US open drama : John

बहरहाल जॉन ने कहा कि माफी मांगने का सवाल ही पैदा नहीं होता। अगर उसने सिर्फ चोर शब्द ही इस्तेमाल किया है तो इसका मतलब यह नहीं है कि यह सबसे खराब है। मैं ही नहीं कई अन्य गेम्स के प्लेयर्स ने इससे भी भद्दे कमेंट किए हैं तो इसका मतलब यह नहीं कि सबसे माफी मंगवाई जाए। जॉन ने कहा कि यह चोर शब्द उन चारों शब्दों से कुछ ज्यादा ही शालीन है जिसे आजकल हर इंसान छोटी-बड़ी बातों पर इस्तेमाल करता है। 

.
.
.
.
.