Sports

मुंबई : दक्षिण अफ्रीका के आगामी दौरे के लिए राष्ट्रीय चयनकर्ता जब क्रिकेट टीम के चयन के लिए बैठक करेंगे तो वनडे प्रारूप में विराट कोहली की कप्तानी के साथ टेस्ट प्रारूप में अजिंक्य रहाणे की उप-कप्तानी के पद को लेकर चर्चा होगी। इसके साथ ही 100 टेस्ट मैच खेल चुके इशांत शर्मा की टेस्ट टीम में जगह के अलावा एकदिवसीय टीम में अनुभवी सलामी बल्लेबाज शिखर धवन की वापसी भी इस चयन बैठक में अहम मुद्दा होगा।

चयन समिति के अध्यक्ष चेतन शर्मा, अभय कुरुविला और सुनील जोशी यहां मुंबई टेस्ट (न्यूजीलैंड के खिलाफ) देख रहे हैं और सोमवार से शुरू होने वाले सप्ताह के दौरान वे बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह के साथ बैठकर कुछ निर्णय लेंगे जिसका भारतीय क्रिकेट में दूरगामी प्रभाव हो सकता है। भारत को दक्षिण अफ्रीका में तीन एकदिवसीय मैच खेलने हैं और अब सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या देश को सफेद गेंद (सीमित ओवर) प्रारूप में दो कप्तानों की जरूरत है, जो टीम में विचारों के टकराव का कारण बन सकता है। 

रोहित शर्मा पहले से ही टी20 टीम के कप्तान हैं और 2023 में होने वाले 50 ओवर के विश्व कप को देखते हुए बीसीसीआई के गलियारों में सीमित ओवरों के प्रारूप में एक कप्तान रखने की चर्चा हो रही है। बीसीसीआई के एक वरिष्ठ सूत्र ने कहा कि विराट का एकदिवसीय कप्तान बरकरार रहना फिलहाल मुश्किल लग रहा है। इस साल बहुत कम मैच है इसलिए वनडे का ज्यादा महत्व नहीं है। ऐसे में इस बारे में फैसले को लेने में देरी हो सकती है।

उन्होंने कहा कि इसके विरोध में हालांकि तर्क यह है कि आप एक तरह के दो प्रारूपों के लिए अलग-अलग कप्तान रखेंगे तो विचारों का टकराव होगा। ऐसे में इस फैसले से जुड़े अधिकांश लोगों को लगता है कि रोहित को यह जिम्मेदारी सौंप देनी चाहिये ताकि उन्हें 2023 से पहले टीम तैयार करने के लिए जरूरी समय मिल सके।  टेस्ट टीम में रहाणे और पुजारा की जगह बनी रहेगी लेकिन इस प्रारूप में रोहित को उप-कप्तान बनाया जा सकता है। खराब लय में चल रहे रहाणे के लिए हालांकि अंतिम एकादश में जगह बनाना मुश्किल होगा। श्रेयस अय्यर और शुभमन गिल के शानदार लय में होने के साथ सूर्यकुमार यादव और हनुमा विहारी जैसे मध्यक्रम के विकल्प के होते हुए अनुभवी रहाणे के लिए अंतिम एकादश में जगह हासिल करना आसान नहीं होगा। 

अधिकारी ने कहा कि जाहिर है, वह दक्षिण अफ्रीका जा रहे है (अगर वह चोटिल नहीं हुए तो)। इस बात की हालांकि अधिक संभावना है कि वह अंतिम एकादश में जगह नहीं बना पाये, ऐसे में वह उपकप्तान कैसे रहेंगे। अगर रहाणे को उप-कप्तानी से हटा दिया जाता है, तो रोहित इसकी पहली पसंद होंगे। वह ऑस्ट्रेलिया टेस्ट श्रृंखला में उप-कप्तान थे। भारत ए टीम के साथ दक्षिण अफ्रीका दौरे पर गये प्रियांक पंचाल और अभिमन्यु ईश्वरन के नाम पर चयनकर्ता चर्चा करेंगे। ये खिलाड़ी अनुभवी चेतेश्वर पुजारा का विकल्प मुहैया कराएंगे।

गेंदबाजी विभाग में इशांत शर्मा की जगह खतरे में है। इंग्लैंड दौरे के बाद वह लय में नहीं है। इस दौरान मोहम्मद सिराज ने शानदार गेंदबाजी की है। टीम में जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी की जगह पक्की है ऐसे में सिराज तीसरे गेंदबाज के मजबूत दावेदार है। चौथे तेज गेंदबाज के तौर पर उमेश यादव की दावेदारी इशांत से ज्यादा मजबूत होगी। रिजर्व तेज गेंदबाजों की सूची में प्रसिद्ध कृष्णा, आवेश खान के साथ कुछ और नाम शामिल हैं। यह देखना दिलचस्प होगा कि शिखर धवन को एकदिवसीय टीम में जगह मिलती है या नहीं। दिल्ली के 36 साल के इस खिलाड़ी ने पिछली तीन पारियों में 98, 67 और नाबाद 86 रन बनाये है। उनके नाम 17 शतक है, जिसे नजरअंदाज करना चयनकर्ताओं के लिए मुश्किल होगा।  
 

.
.
.
.
.