Sports

नई दिल्ली : भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने क्रिकेट के भगवान माने जाते सचिन तेंदुलकर के बारे में एक ऐसा बयान दिया है जो सचिन के फैंस को अच्छा नहीं लगेगा। एक कार्यक्रम के दौरान बोलते सहवाग ने कहा कि वह अगर सचिन को कॉपी करते तो कभी सफल नहीं हो पाते। उन्होंने कहा- मैं सचिन की तरह दिख सकता हूं, उनकी तरह खेल सकता हूं, लेकिन उनकी तरह परफॉर्म नहीं कर सकता। और मैंने जिस दिन यह बात समझ ली तो अपने खेलने का तरीका भी बदल दिया।’

Sehwag's disputed statement - raised questions on the God of cricket

सहवाग ने इस दौरान अपने बल्लेबाजी के स्टाइल पर भी बात की। उन्होंने कहा कि मैं जब भी पिच पर जाता था सिर्फ एक बात दिमाग में होती थी कि हिट करना है। सीधे शब्दों में कहूं तो मुझे टेक्निक और मेथड से ज्यादा भरोसा अपनी हिटिंग पर था। इसी ने मुझे पहचान दिलाई। जब सभी क्रिकेटर क्रीज पर टिके रहने का सोचते हैं, ऐसे समय में मेरा फोक्स हमेशा चौके-छक्के बटोरने पर ही लगा रहता था। 

Sehwag's disputed statement - raised questions on the God of cricket

बता दें कि सहवाग ने 1999 में डेब्यू किया था। लेकिन उनको पहचान मिली 2000 में। न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच के दौरान जैसे ही उन्हें ओपनिंग का मौका मिला उन्होंने 69 गेंदों में सेंचुरी लगाकर सबको हैरान कर दिया। इसके बाद सहवाग ऐसा चमके कि भारत की ओर से टेस्ट क्रिकेट में पहला तिहरा शतक लगाने वाले बल्लेबाज भी बन गए। सहवाग टेस्ट में यह कारनामा दो बार कर चुके हैं।

.
.
.
.
.