Sports

बेंगलूरूः एबी डीविलियर्स (69) और मोईन अली (65) के तूफानी अर्धशतकों से रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने बड़े स्कोर वाले मुकाबले में चोटी की टीम सनराइजर्स हैदराबाद को 14 रन से हराकर आईपीएल 11 के प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीदें कायम रखीं।  भारतीय कप्तान विराट कोहली की टीम बेंगलुरु ने करो या मरो के इस मुकाबले में छह विकेट पर 218 रन का विशाल स्कोर बनाने के बाद हैदराबाद की कड़ी चुनौती को तीन विकेट पर 204 रन पर थाम लिया। बेंगलुरु की 13 मैचों में यह छठी जीत है और उसके 12 अंक हो गए हैं लेकिन बेंगलुरु को अपना अंतिम मैच जीतना होगा और दूसरी टीमों के परिणामों पर भी नजर रखनी होगी। 

हैदराबाद अभी भी टाॅप पर
प्ले ऑफ के लिए पहले ही क्वालीफाई कर चुके हैदराबाद की 13 मैचों में यह चौथी हार थी लेकिन उसका शीर्ष स्थान बना हुआ है। विशाल लक्ष्य का पीछा करते हुए हैदराबाद के कप्तान केन विलियम्सन ने मनीष पांडेय के साथ अपनी टीम को मुकाबले में बनाये रखा लेकिन अंत में लक्ष्य बड़ा रह गया। ओपनर शिखर धवन और एलेक्स हेल्स ने पहले विकेट के लिए 5.1 ओवर में 47 रन की साझेदारी की लेकिन फिर दोनों ओपनर 64 के स्कोर तक पवेलियन लौट गए। शिखर ने 15 गेंदों पर 18 रन में दो छक्के लगाए। हेल्स ने 24 गेंदों पर 37 रन की पारी में दो चौके और तीन छक्के लगाए।  विलियम्सन और पांडेय ने फिर जबरदस्त साझेदारी कर हैदराबाद को 18 ओवर में 184 रन तक पहुंचा दिया। मुकाबला अब बेहद रोमांचक हो चला था और बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली की बैचेनी बढऩे लगी थी। उनकी सारी उम्मीदें आखिरी दो ओवरों पर टिकी हुई थी और उनके गेंदबाजों ने इन ओवरों में अपने कप्तान को निराश नहीं किया। विलियम्सन 42 गेंदों में सात चौकों और पांच छक्कों की मदद से 81 रन बनाकर आखिरी ओवर की पहली गेंद पर आउट हुए जबकि पांडेय 38 गेंदों में सात चौकों और दो छक्कों के सहारे 62 रन बनाकर नाबाद रहे। 

इससे पहले बेंगलुरू ने एबी डिविलियर्स (69) और मोईन अली (65) के अर्धशतकों की बदौलत हैदराबाद के खिलाफ छह विकेट गंवाकर 218 रन बनाये। दिल्ली डेयरडेविल्स और किंग्स इलेवन पंजाब पर लगातार मिली जीत से आत्मविश्वास से भरी आरसीबी के लिये डिविलियर्स (39 गेंद में 12 चौके और एक छक्का) और अली (34 गेंद में ) ने तीसरे विकेट के लिये महज 57 गेंद में 107 रन की भागीदारी निभायी। अफगानिस्तान के लेग स्पिनर राशिद खान ने एक बार फिर हैदराबाद के लिये शानदार प्रदर्शन करते हुए अपने चार ओवर में 27 रन देकर तीन विकेट झटके।           

बल्लेबाजी का न्यौता मिलने के बाद रायल चैलेंजर्स बेंगलूर को पहला झटका पार्थिव पटेल के रूप में लगा जो पहले ओवर की अंतिम गेंद पर संदीप शर्मा की गेंद पर थर्ड मैन पर सिद्धार्थ कौल को आसान कैच देकर आउट हो गये। हालांकि पहली ही गेंद पर उनका कैच ड्राप हुआ था। डिविलियर्स ने आते ही शाकिबुल हसन की पहली और दूसरी गेंद पर चौके जड़े। उन्होंने और सलामी बल्लेबाज विराट कोहली की कोशिश पावरप्ले में ज्यादा से ज्यादा रन जुटाने की थी, लेकिन उनकी उम्मीद राशिद खान ने भारतीय टीम के कप्तान को बोल्ड करके तोड़ दी। राशिद की खूबसूरत गुगली कोहली के स्टंप उखाड़कर चली गयी। अब मोईन अली क्रीज पर उतरे। शुरूआती दो झटकों के कारण आरसीबी पारवप्ले में दो विकेट पर 44 रन ही जोड़ सकी। आठवें ओवर में गेंदबाजी करने उतरे बासिल थम्पी का पहला ओवर सनराइजर्स हैदराबाद के लिये काफी मंहगा रहा जिसमें अली ने पहली दो गेंद पर लगातार छक्के जमाये। उन्होंने पहली फुल लेंथ गेंद को मिड आफ पर और दूसरी शार्ट गेंद को स्क्वायर लेग पर छक्के के लिये भेजा।           

ग्रैंडहोम ने खेली तेज पारी 
डिविलियर्स ने 12वें ओवर में कौल (44 रन देकर दो विकेट) की गेंदों पर लगातार चाके जमाकर 32 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया और फिर अली ने आईपीएल में अपना पहला अर्धशतक अगले ओवर में थम्पी की गेंद पर चौका लगाकर बनाया।  इन दोनों ने मिलकर तेजी से रन जुटाये और सनराइजर्स हैदराबाद के मजबूत गेंदबाजी आक्रमण को परेशान किया। लेकिन 15वें ओवर में राशिद ने इन दोनों जमे हुए बल्लेबाजों के विकेट झटक लिये। डिविलियर्स बड़ा शाट लगाने के प्रयास में डीप स्क्वायर लेग पर शिखर धवन को कैच देकर आउट हुए जबकि एक गेंद बाद अली भी विकेट के पीछे श्रीवत्स गोस्वामी को कैच देकर पवेलियन लौटे।  डिविलियर्स ने जहां अपनी पारी में 12 चौके और एक छक्का जड़ा तो वहीं अली की पारी में केवल दो चौके जबकि छह छक्के जड़े थे। इसके बाद कोलिन डि ग्रैंडहोम ने महज 17 गेंद में 40 रन जोड़कर उपयोगी योगदान दिया जबकि सरफराज खान आठ गेंद में 22 रन बनाकर नाबाद रहे। थम्पी के लिये आज का दिन काफी खराब रहा जिन्होंने आईपीएल इतिहास में एक पारी के दौरान सबसे ज्यादा रन लुटाये। उन्होंने अपने चार ओवर में 70 रन लुटाये।           
 

.
.
.
.
.