Sports

नई दिल्लीः मुंबई ने बुधवार को हैदराबाद को हराकर विजय हजारे ट्राॅफी के फाइनल में जगह बनाई। मैच के दाैरान मुंबई के लिए ओपनिंग करने आए रोहित शर्मा बल्ले से ज्यादा रन तो नहीं बना सके, लेकिन उन्होंने फिल्डिंग दाैरान एक हैरानी भरा कैच लपक कर सबको चाैंका दिया। कैच इतना मुश्किल था कि आउट होने के बाद बल्लेबाज ने भी पवेलियन लाैटने से मना किया आैर थर्ड अंपायर की मदद मांग ली। 

यह बात पारी के 19वें ओवर की है। मैच में शम्स मुलानी गेंदबाजी कर रहे थे और रोहित स्लिप पर फील्डिंग कर रहे थे। बल्लबाजी कर रहे संदीप ने शॉर्ट पिच गेंद को कट करने की कोशिश की लेकिन गेंद उनके शरीर के काफी करीब थी इसलिए उनके बल्ले का बाहरी किनारा लेकर स्लिप में उछली गई। वहां पर फील्डिंग कर रहे रोहित शर्मा ने कैच पकड़ लिया और विकेट का जश्न मनाने लगे लेकिन इतना सब हो जाने के बावजूद बल्लेबाज पवेलियन नहीं लौटा और वहीं खड़ा रहा।

अंपायर को भी समझ नहीं आया कि कैच लिया है या नहीं। जिसके बाद थर्ड अंपायर दिया गया।  रीप्ले में ये पता नहीं चल रहा था कि रोहित के कैच लपकने के दौरान गेंद मैदान में लगी है कि नहीं। चूंकि, सॉफ्ट सिग्नल में आउट दिया गया था। इसलिए टीवी अंपायर को भी उसी फैसले के साथ जाना पड़ा क्योंकि उनके पास इस फैसले को बदलने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं थे। थर्ड अंपायर ने भी कुछ देर लेकर आउट करार दिया।