Sports

स्पोर्ट्स डेस्क(राहुल): आॅलराउंडर रविंद्र जडेजा के लिए आज का दिन यानी 5 अक्तूबर कभी ना भूला पाने वाला होगा। वो इसलिए क्योंकि आज उन्होंने विंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट के दूसरे दिन शानदार शतक ठोका आैर यह उनके करियर का पहला शतक भी रहा। जडेजा ने जैसे ही क्रेग ब्रेथवेट की गेंद पर 1 रन लेकर शतक पूरा किया तो वो खुशी से झूम उठे। उनके लिए शतक की क्या अहमियत थी, उसे जडेजा के जश्न मनाने के तरीके में देखा जा सकता है। लेकिन इस दाैरान एक मजाकिया पल भी बन गया। जडेजा जश्न में इतने डूब गए की वो कप्तान विराट कोहली को इग्नोर कर बैठे।

जानें पूरा वाक्या?
हुआ कुछ ऐसा कि भारत 600 के ऊपर स्कोर कर बैठा था। कोहली पारी घोषित करने वाले थे लेकिन जडेजा ने चाैकों-छक्कों की बरसात करना शुरू कर दिया आैर देखते ही देखते वह शतक की ओर पहुंच गए। फिर इंतजार था जडेजा के शतक पूरे होने का आैर फिर पारी घोषित करने का। जडेजा ने शतक पूरा किया आैर कोच रवि शास्त्री ने कोहली को पारी घोषित करने को कहा। पूरी टीम जडेजा के शतक पर तालियां बजा रही थाीपर इसी बीच कोहली ने जडेजा को पारी घोषित करने का इशारा भी कर दिया। वह उन्हें वापस लाैटने को कहने लगे पर जडेजा ने उनकी ओर ज्यादा ध्यान नहीं दिया, क्योंकि वह तलवारबाजी करते हुए जश्न मनाने में डूबे थे।  इसके बाद कोहली भी अपनी हंसी नहीं रोक सके आैर वह उन्हें वापस बुलाने के लिए रूक गए।  

शमी ने दिया कोहली की तरफ ध्यान
इसके बाद अगली गेंद शमी खेलने के लिए क्रीज पर आए आैर उन्होंने सिंगल लिया। अब डक आउट में बैठे कोहली ने एक बार फिर पारी घोषित करने का इशारा किया। पर इस बार शमी ने कोहली के इशारे को समझा आैर जडेजा को आगे खेलने से रोका। यह वाक्या काफी मजेदार रहा। क्योंकि जडेजा के शतक के बाद पूरा स्टेडियम तालियों से गूंज उठा था तो वहीं उनके साथी भी काफी खुश दिखे। 
PunjabKesari

बता दें कि जडेजा ने 5 चाैकों आैर 5 छक्कों की मदद से 134 गेंदों की मदद से नाबाद 100 रनों की पारी खेली। भारत ने पहली पारी 9 विकेट पर 649 रनों पर घोषित की। जडेजा के अलावा ओपनर पृथ्वी शाॅ(134), कप्तान विराट कोहली(139) आैर रिषभ पंत(92) ने बड़ी पारियां खेलीं। 

.
.
.
.
.