Sports

नागपुर : चेतेश्वर पुजारा के लगातार दूसरी बार विफल होने से सौराष्ट्र की टीम ने रणजी ट्राफी फाइनल के चौथे दिन 206 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 58 रन तक पांच विकेट गंवा दिए जिससे गत चैम्पियन विदर्भ ट्राफी से केवल पांच विकेट दूर है। बाएं हाथ के स्पिनर आदित्य सरवटे ने फिर से इस स्टार बल्लेबाज का विकेट चटकाया। पुजारा शून्य पर सरवटे की गेंद पर पगबाधा आउट हो गये जिन्होंने उछाल लेने वाली पिच पर नयी गेंद दिए जाने के बाद 10 ओवर में 13 रन देकर तीन विकेट हासिल किए।  पहले दो बार उप विजेता रह चुकी सौराष्ट्र की टीम को इस पेचीदा पिच पर जीतने के लिए 148 रन और बनाने हैं और उसके पांच विकेट बाकी हैं।

विश्वराज जडेजा 23 और कमलेश मकवाना दो रन बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं। यह मुकाबला दोनों टीमों के दबाव झेलने की क्षमता का परीक्षण होगा क्योंकि दोनों टीमों के निचले क्रम के बल्लेबाजों ने दिखाया कि अगर सही तरह से खेला जाये तो रन बनाना असंभव नहीं है। इससे पहले बाएं हाथ के स्पिनर धर्मेंद्रङ्क्षसह जडेजा (96 रन देकर छह विकेट) ने विदर्भ के शीर्ष क्रम का सफाया कर सौराष्ट्र को अच्छी स्थिति में पहुंचा दिया लेकिन मेजबानों ने एक समय 147 रन पर आठ विकेट गंवाने के बावजूद अच्छा खेलते हुए 200 रन बना लिए।

विदर्भ ने दो विकेट पर 55 रन से खेलना शुरू किया था, जिसके लिये मोहित काले ने 94 गेंद में 38 रन बनाए और आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले सरवटे ने 49 रन की पारी खेली। सरवटे ने इस जुझारू पारी के लिये 133 गेंद का सामना करते हुए पांच बार गेंद सीमा रेखा के पार कराई।

सरवटे विदर्भ की पारी के आउट होने वाले अंतिम खिलाड़ी रहे, इसके बाद उन्होंने गेंदबाजी करते हुए अपनी बायें हाथ की स्पिन से सौराष्ट्र के शीर्ष क्रम को तहस नहस कर दिया। शानदार स्पैल में सरवटे ने पहली पारी के शतकवीर स्नेल पटेल (12), हाॢवक देसाई (08) और पुजारा (शून्य) को अपने पहले पांच ओवर में आउट कर दिया।

भारतीय तेज गेंदबाज उमेश यादव अपने पहले दो ओवर में खर्चीले रहे, लेकिन उन्होंने दूसरे स्पैल में युवा अॢपत वासवडा (05) का विकेट झटका जो विकेटकीपर को कैच देकर आउट हुए। शेल्डन जैक्सन (07) लापरवाही से शाट खेलकर अक्षय वाखरे को विकेट दे बैठे। दिन की शुरूआत में जडेजा ने वीसीए स्टेडियम की धीमी पिच पर विकेट टू विकेट गेंदबाजी की और अपने प्रथम श्रेणी करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया जिससे सौराष्ट्र ने मेजबान टीम की दूसरी पारी 200 रन पर समेट दी। जडेजा ने पहले सत्र में विदर्भ के अहम खिलाड़ी वसीम जाफर (11) और गणेश सतीश (35) सहित चार बल्लेबाजों को आउट किया।

सौराष्ट्र ने कप्तान जयदेव उनादकट और चेतन सकारिया के के साथ गेंदबाजी की शुरूआत की। लेकिन जडेजा ने अपने शानदार स्पैल में बीती रात के दो बल्लेबाजों के विकेट चटकाए। जाफर के बाद जडेजा ने फुल लेंथ गेंद पर सतीश का विकेट झटका। विदर्भ की टीम इन दो झटकों से उबरने में असफल रही और सौराष्ट्र के कप्तान उनादकट ने अक्षय वाडकर के स्टंप उखाड़ दिए। विदर्भ ने सुबह के पहले 11 ओवर में महज 18 रन जोड़कर तीन विकेट गंवा दिए थे।

उनादकट ने आठ ओवर गेंदबाजी करने के बाद खुद को आक्रमण से हटा दिया लेकिन एक छोर पर तेज गेंदबाज को लगाए रखा और गेंद चेतन सकारिया को दी। जल्द ही सकारिया की जगह कमलेश मकवाना को आक्रमण पर लगाया और उन्होंने स्पैल के तीसरे ओवर में खतरनाक अक्षय कर्णेवर (18) को पवेलियन भेजा। मेजबान ने लंच के बाद के सत्र में बचे हुए चार विकेट गंवा दिए जिसमें से दो और जडेजा के नाम रहे जिन्होंने छह विकेट लेकर बेहतरीन प्रदर्शन किया।

.
.
.
.
.