Sports

जकार्ता : महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल को 18वें एशियाई खेलों के समापन समारोह के लिए भारतीय दल का ध्वजवाहक चुना गया है। भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने शनिवार को कहा- कल के कार्यक्रम के लिए रानी को भारतीय दल का ध्वजवाहक चुना गया। इन खेलों के उद्घाटन समारोह के लिए स्टार भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा को भारतीय दल का ध्वजवाहक चुना गया था जिन्होंने इन खेलों में स्वर्ण पदक भी जीता।

PunjabKesari
23 साल की रानी की कप्तानी में भारतीय महिला हाकी टीम ने 20 साल के पदकों को सूखा खत्म करते हुए रजत पदक जीता है। टीम हालांकि फाइनल में जापान से 1-2 से हार के कारण 36 साल बाद स्वर्ण पदक जीतने से चूक गई। लगभग 550 भारतीय खिलाडिय़ों के दल में से ज्यादातर खिलाड़ी स्वदेश लौट गए है और ध्वजवाहक का चयन वहां मौजूद खिलाडिय़ों में से किया गया।

महिला हॉकी टीम की चार खिलाडिय़ों को एक-एक करोड़ रूपये का ईनाम देगी ओडिशा सरकार
ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने 18वें एशियाई खेलों में रजत पदक जीतने वाली भारतीय महिला हाकी टीम में शामिल राज्य के चार खिलाडिय़ों को एक-एक करोड़ रुपए का नकद पुरस्कार देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी बयान में कहा गया कि पटनायक ने रजत पदक जीतने पर महिला टीम को बधाईं देते हुए राज्य के खिलाडिय़ों के लिए पुरस्कार राशि की घोषणा की।
उन्होंने कहा कि एशियाई खेलों में 20 साल बाद पदक जीतने वाली भारतीय टीम में राज्य की चार खिलाड़ी सुनीता लाकड़़ा, नमिता टोप्पो, निलिमा मिंज और दीप ग्रेस थी। भारतीय टीम का इन खेलों में 36 साल के बाद स्वर्ण पदक जीतने का सपना फाइनल में जापान से 1-2 से हार कर टूट गया था।