Sports

नई दिल्लीः इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) फ्रेंचाइजी राजस्थान रायल्स के मालिक अपनी टीम को 12वें सत्र से पहले वित्तीय रूप से मजबूती देने के लिये अपनी हिस्सेदारी का आधा हिस्सा बेचने को तैयार हैं। पता चला है कि फ्रेंचाइजी के मौजूदा मालिकों ने बीसीसीआई के प्रमुख अधिकारियों से संपर्क किया है और अपनी 50 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के फैसले से अवगत कराया है। मनोज बडाले राजस्थान रायल्स के मूल मालिक हैं।           

बीसीसीआई के वरिष्ठ अधिकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा, ‘‘हां, राजस्थान रायल्स अपनी हिस्सेदारी का बड़ा हिस्सा बेच रहा है और सबसे ज्यादा बोली लगाने वालों को ही यह मिलेगा। हमने जो कुछ सुना है कि यह करीब 50 प्रतिशत होगा और देश के कुछ बड़े व्यावसायिक घराने इस हिस्सेदारी को खरीदने के इच्छुक दिख रहे हैं। ’’ अभी कुछ भी पुष्ट नहीं है, लेकिन आईपीएल फ्रेंचाइजी राइजिंग पुणे सुपरजाइंट््स के पूर्व मालिक संजीव गोयनका इस हिस्सेदारी को खरीदने के इच्छुक हैं हालांकि उनसे बात नहीं हो सकी है ।           

बता दें कि दो साल के बैन के बाद राजस्थान रॉयल्स की टीम आईपीएल 2018 में वापस लौट कर आई थी। ऑस्ट्रेलिया के महान स्पिनर शेन वॉर्न 10 साल बाद इसी टीम के मेंटर के रूप में लौट थे। शेन वॉर्न 2008 में राजस्थान रॉयल्स के कप्तान और कोच थे, जब बड़े सितारों के बिना भी टीम ने खिताब जीतकर सभी को चौंका दिया था। 

.
.
.
.
.