Sports

लंदनः उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे ने इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज गंवाने के लिए भारतीय टीम के बहुर्चिचत बल्लेबाजी लाइन-अप की विफलता को दोषी ठहराया जो गेंदबाजों का साथ नहीं निभा सके। भारतीय टीम टेस्ट सीरीज में लगातार दूसरी पारी में सिमट गयी जिससे इंग्लैंड ने 3-1 की अजेय बढ़त बना ली। रहाणे ने पांचवें और अंतिम टेस्ट की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘इंग्लैंड में संयम सबसे अहम चीज है, भले ही आप बल्लेबाजी करो या फिर गेंदबाजी। आपको लंबे समय तक एक ही क्षेत्र में गेंदबाजी करनी पड़ती है। और साथ ही बल्लेबाज के तौर पर आपको लंबे समय तक गेंदों को छोडऩा पड़ता है।’’

PunjabKesari

हमारी गेंदबाजी शानदार रही
उन्होंने कहा, ‘‘हमें बुरा लगता है जब हमारे गेंदबाज इतनी अच्छी गेंदबाजी करते हैं और हम उनका समर्थन करने के लिये एकजुट बल्लेबाजी करने में असफल हो जाते हैं जबकि हमारे खिलाड़ी काफी अनुभवी हैं। मुझे लगता है कि बल्लेबाजी ग्रुप के तौर पर हम कमतर रहे।’’ रहाणे ने कहा, ‘‘जब आप दौरे पर होते हो तो आप कड़ी मेहनत करते हो और अच्छी तैयारी करते हो लेकिन एक विभाग अच्छा प्रदर्शन करता है तो आपकी जिम्मेदारी दूसरे ग्रुप के सहयोग करने की होती है।’’ अपनी बल्लेबाजी के बारे में बात करते हुए रहाणे ने कहा, ‘‘मैंने ज्यादा रन नहीं बनाये लेकिन मैंने पिछले दो मैचों में 50 और 80 के करीब रन बनाये। मैं जिस तरह से बल्लेबाजी कर रहा हूं, मैं गेंद से अच्छी तरह खेल रहा हूं। बल्लेबाजी करना आत्मविश्वास की बात होती है। मैं अपनी टीम के लिये अच्छा योगदान करना चाहता हूं।’’

PunjabKesari

बताई पांचवें टेस्ट की तैयारी
रहाणे ने कहा, ‘‘इस अंतिम मैच में मैं निश्चित रूप से अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करूंगा और मैंने खुद को अच्छी तरह तैयार किया है। तैयारियां शुरू से लेकर अब तक एक समान ही हैं, भले ही आप 3-1 से आगे हों या 1-3 से पीछे। मैं अपनी बल्लेबाजी का लुत्फ उठाऊंगा।’’ उन्होंने कहा कि दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम इस लंबे दौरे का समापन जीत के साथ करना चाहेगी। रहाणे ने कहा, ‘‘निश्चित रूप से यह अहम टेस्ट मैच है। सीरीज में अभी हम 1-3 से पिछड़ रहे हैं और हम अपना सर्वश्रेष्ठ देना चाहते हैं और इसका समापन जीत के साथ करना चाहते हैं। मुझे लगता है कि हमने काफी अच्छा क्रिकेट खेला लेकिन इंग्लैंड के खिलाड़ी हमसे बेहतर रहे।’’ 

PunjabKesari

उन्होंने कहा, ‘‘टेस्ट क्रिकेट में आपको हर सत्र में शत प्रतिशत से ज्यादा देना पड़ता है। मुझे लगता है कि इंग्लैंड ने छोटे और अहम सत्र में जीत दर्ज की। उनकी गेंदबाजी इकाई ने सचमुच अच्छी गेंदबाजी की।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह अंतिम टेस्ट है। हम इस अंतिम टेस्ट में अच्छे प्रदर्शन पर ध्यान लगाये हैं और अगर हम इस टेस्ट को जीत जाते हैं तो यह काफी अच्छा होगा क्योंकि तब हम सीरीज 2-3 से गंवाएंगे।’’

.
.
.
.
.