Sports

कानपुर : पूर्व स्टार शटलर और भारतीय टीम के मौजूदा प्रशिक्षक पुलेला गोपीचंद को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) कानपुर ने डाक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया है। पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के बाद गोपीचंद ऐसी विभूति है जिन्हें संस्थान ने डाक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया है। संस्थान के 52वें दीक्षांत समारोह में इसरो के पूर्व अध्यक्ष प्रोफेसर के राधाकृष्णन ने उन्हें सम्मानित किया।

मुख्य अतिथि नैसकॉम के पूर्व चेयरमैन प्रोफेसर बीवीआर मोहन रेड्डी ने कहा कि आईआईटी के छात्र क्षमतावान और प्रतिभा सम्पन्न है और देश की प्रगति में अपना योगदान दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि छात्रों को नौकरी के पीछे भागने के बजाय रोजगारपरक बनना चाहिए और वे उद्यमिता को लक्ष्य बनाकर आगे बढ़े। उन्होंने कहा कि वर्ष 1973 में कानपुर आईआईटी से पढ़ाई पूरी कर वह डिजाइन इंजीनियर के क्षेत्र में काम कर आगे बढ़ते गए।

.
.
.
.
.