Sports

सिडनी: ऑस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर ने गुरूवार को कहा कि उन्होंने किसी बल्लेबाज में भारत के टेस्ट स्टार चेतेश्वर पुजारा की तरह की एकाग्रता नहीं देखी जो इस मामले में महान सचिन तेंदुलकर से काफी बेहतर हैं। पुजारा ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला में मिली 2-1 की जीत के दौरान मैन आफ द सीरीज पुरस्कार हासिल किया जिसमें तीन शतक भी शामिल थे।
Image result for Sachin Tendulkar test batting
ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर भारत की पहली टेस्ट सीरीज में जीत के बाद पहली बार बोलते हुए लैंगर ने कहा कि पुजारा की एकाग्रता उनके गेंदबाजों के लिए एक चुनौती था। लैंगर ने कहा, ‘मैंने ऐसा बल्लेबाज नहीं देखा जो गेंद को इतनी करीब से देखे जैसा पुजारा करता है और इसमें सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ भी शामिल हैं। उसका ध्यानचित्त होना हमारे लिये चुनौती था। हमें उसकी तरह बेहतर होते रहना होगा, हमारे सभी बल्लेबाजों और गेंदबाजों को।’ लैंगर ने कहा कि उनके गेंदबाजों ने टेस्ट श्रृंखला में गेंदबाजी करने में जी जान लगा दी विशेषकर मेलबर्न और सिडनी में।
PunjabKesari
शनिवार से यहां शुरू होने वाली वनडे श्रृंखला से पहले लैंगर ने कहा, ‘हमारे खिलाड़ी काफी मेहनत कर रहे थे और वे ठीक प्रदर्शन कर रहे हैं। मेलबर्न और सिडनी में पहली पारी में, ईमानदारी से कहूं तो उन्होंने हमें परेशान कर दिया क्योंकि जब आप दो दिन तक मैदान में होते हो और वो भी एक स्पिन गेंदबाज के साथ तो इससे ग्रुप की सारी ऊर्जा खत्म हो जाती है।’ उन्होंने कहा, ‘हमारे पास सर्वश्रेष्ठ स्पिनर और तीन बेहतरीन तेज गेंदबाज हैं जो लाजवाब चेतेश्वर पुजारा और विराट कोहली के खिलाफ गेंदबाजी कर रहे थे। इसलिए इससे आपकी मानसिक और शारीरिक ऊर्जा खत्म होती ही है।’

.
.
.
.
.