Sports

जालन्धर: दिल्ली कैपिटल्स के मुख्य सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ सुपर ओवर के दौरान ओपनिंग पर नहीं आए। मैच खत्म होने के बाद उन्होंने कहा कि वह जान बूझकर ओपनिंग पर नहीं आए थे। दरअसल सुपर ओवर से पहले उन्होंने अपने स्पोर्ट स्टाफ से बातचीत की थी। रिकी सर, सौरव सर, प्रवीण सर का कहना था कि वह थोड़े जल्दी जा रहे है। इसलिए पंत और अय्यर ने खुद ओपनिंग का फैसला लिया। लेकिन जब तीसरी ही गेंद पर कप्तान अय्यर आऊट हो गए तो मुझे बल्लेबाजी के लिए उतरना पड़ा। इसके बाद अगली तीनों गेंदें पंत ने ही खेलीं।

PunjabKesari
पृथ्वी ने इस दौरान 99 रन पर विकेट गंवाने पर कहा कि मुश्किल हालत में मैं जल्द से जल्दी मैच खत्म करने की सोच रहा था। एक ओवर में दो चौके जडऩे के बाद मैं मूर्खतापूर्ण चीजें करना चाह रहा था। इसलिए मैंने अपनी योजना बदल दी। मुझे लगता है कि पिच थोड़ी बदल गई, गेंदबाजों के निशान खुल गए और कुलदीप और पीयूष को अच्छा टर्न मिल रहा था। हमारे लिए बल्लेबाजी मुश्किल हो गई क्योंकि उनके धीमे काम काफी अच्छे थे। 

PunjabKesari
पृथ्वी आगे बोले- मेरे पास आगे आने के लिए अभी 10 और मैच हैं और मैं उनमें से बाकी हिस्सों में भी उतनी ही तीव्रता के साथ आगे बढऩे की उम्मीद कर रहा हूं और अपना 100 प्रतिशत दे रहा हूं। पृथ्वी ने इस दौरान सुपर ओवर में टीम की परफार्मेंस को भी सराहा। उन्होंने कहा कि जैसा हम खेले, हम जीत के लायक थे।

.
.
.
.
.