IPL 2019
Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : प्रीमियर लीग क्लब्स अपनी प्रतिद्वंदी टीमों पर नजर रखने के लिए जेम्स बांड की फिल्म से प्रेरित तरीके अपना रहे हैं। इस काम के लिए क्लब्स स्पाई चश्मों का सहारा ले रहे हैं। ये अंडरकवर जासूस ऐसे चश्मों का इस्तेमाल कर रहे जिनसे मैच के दौरान आसानी से रिकाॅर्डिंग हो सके और किसी को इस बात की भनक तक ना लगे। इन चश्मों की कीमत लगभग 14 हजार रुपए के आस-पास है। 

लीड्स यूनाइटेड पर पिछले महीने फुटबॉल लीग द्वारा 200,000 पाउंड का जुर्माना लगाया गया था, जब मार्सेलो बायलासा (Marcelo Bielsa) ने सभी क्लबों के चैम्पियनशिप साथियों की जासूसी की बात कबूली थी। इस घटना के बाद से ईएफएल अधिकारियों ने 72 घंटे पहले किसी भी अन्य टीम के प्रशिक्षण को देखने से रोक दिया है। हालांकि, प्रीमियर लीग द्वारा अत्याधुनिक रिकाॅर्डिंग डिवाइसिस के इस्तेमाल पर रोक नहीं लगाई गई है।

एक न्यूज वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक कुछ प्रीमियर लीग टीमों को सामान्य खेल से प्राप्त होने वाली रिकॉर्डिंग क्लिप्स से अधिक की आवश्यकता थी। इसके लिए उन्होंने ऐसे डिवाइस खरीदे जिससे रिकाॅर्डिंग को कंवर्ट किया जा सके। स्टेंड्स में बैठकर वह एक खिलाड़ी पर फोकस पर रिकाॅर्डिंग करते थे और बाद में फुटेज को मैनेजर को दिखाते थे ताकि खिलाड़ियों को उस हिसाब से खेल के लिए तैयार किया जा सके। लेकिन यह हैरानीजनक है कि क्लब्स अपने लोगों को सिर्फ इसलिए मैच देखने भेजते थे ताकि वह स्पाई चश्मों की मदद से प्रतिद्वंदी खिलाड़ियों की परफार्मैंस को रिकाॅर्ड कर सकें। 

.
.
.
.
.