Sports

कराची : इंग्लैंड में चल रहे आईसीसी विश्वकप से बाहर होने के बाद स्वदेश लौटी पाकिस्तानी टीम के कप्तान सरफराज अहमद ने कहा है कि उनके कप्तानी जारी रखने पर फैसला पाकिस्तान क्रिकेट बोडर् (पीसीबी) को करना है। स्वदेश लौटने के बाद सरफराज ने कहा, ‘मैं यह नहीं कह रहा हूं कि मैं कप्तानी नहीं छोड़ूंगा। मेरे कहने का मतलब है कि मुझे कप्तान बनाने का निर्णय पीसीबी ने लिया था और मुझे हटाने का फैसला भी उनके हाथ में ही है। मुझे उम्मीद है कि टीम के लिए जो अच्छा होगा वह वही फैसला लेंगे।'  

     

विश्वकप में पाकिस्तान की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी और उसे अपने पहले मैच में ही वेस्टइंडीज के हाथों बड़ी हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि अंत में उसने वापसी की कोशिश और न्यूजीलैंड के बराबर ही 11 अंक लेने में सफल रही। नेट-रनरेट के मामले में न्यूजीलैंड से पिछड़ने के कारण पाकिस्तान का अभियान समाप्त हो गया।

सरफराज ने कहा, ‘हमने टूर्नामेंट के पहले मैच में वेस्टइंडीज के खिलाफ बेहतर प्रदर्शन नहीं किया लेकिन टीम ने मेजबान इंग्लैंड को हराया जो इस विश्वकप की प्रबल दावेदार में से एक है। श्रीलंका के खिलाफ बारिश के कारण मैच धुलने के बाद हमारे अगले मुकाबले का फासला काफी लंबा था जिसके कारण टीम अपनी लय बरकरार नहीं रख सकी और ऑस्ट्रेलिया तथा भारत के खिलाफ हमें हार का सामना करना पड़ा।' 

उन्होंने कहा, ‘टीम जब भी खराब प्रदर्शन करती है तो उसे आलोचना का सामना करना पड़ता है। भारत के खिलाफ मैच के बाद ऐसा माहौल हुआ जिससे खिलाड़ी काफी व्यथित हो गए। हमारे लिए इस दौर से उबर पाना काफी मुश्किल भरा था। हालांकि कुछ पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ियों ने वहां हमारा समर्थन किया।' 

.
.
.
.
.