Sports

ग्रेटर नोएडा : भारत की पहली विश्व कप विजेता टीम के कप्तान कपिल देव का मानना है कि ऋषभ पंत प्रतिभावान क्रिकेटर है लेकिन उसकी तुलना महेंद्र सिंह धोनी से नहीं की जानी चाहिए। टेस्ट क्रिकेट में विकेटकीपर के रूप में भारत की पहली पसंद पंत भारत की विश्व कप टीम में जगह बनाने की दावेदारी पेश कर रहे हैं। टीम का चयन इसी महीने किया जाएगा। 
Sports
विश्व कप 1983 जीतने वाली भारतीय टीम के कप्तान कपिल ने एक प्रचार कार्यक्रम के इतर कहा- आप कभी किसी की तुलना महेंद्र सिंह धोनी से नहीं कर सकते। कोई भी कभी धोनी के स्तर के खिलाड़ी की जगह नहीं ले सकता। पंत प्रतिभावान खिलाड़ी है और धोनी के साथ उसकी तुलना करके हमें उसे दबाव में नहीं डालना चाहिए। कपिल ने खिलाडिय़ों पर बोझ के मुद्दे को भी अधिक तूल नहीं दिया। 

Sports

कपिल बोले- हम सभी पर काम का बोझ है। हम इसे बड़ा मुद्दा बना रहे हैं। काम का बोझ क्या है? मेहनत करनी है ना? क्या आप मेहनत भी नहीं करोगे? कपिल की अगुआई वाली टीम में उनके अलावा मोङ्क्षहदर अमरनाथ, मदन लाल और रोजर बिन्नी जैसे आलराउंडर थे। मौजूदा टीम के अलाराउंडरों हाॢदक पंड्या और विजय शंकर की गेंदबाजी मजबूत नहीं है लेकिन कपिल ने आलोचना से इनकार किया। 

Sports
कपिल ने कहा- विश्व कप जीतना दुकान से मिठाई खरीदने के समान नहीं है। यह एक मिशन है और इस समय मैं टीम की खिंचाई करने वाला आलोचक नहीं बनना चाहता। मैं कमजोर पक्षों को निशाना बनाने की जगह मजबूत पक्षों पर ध्यान दूंगा। कपिल ने कहा- विश्व कप चार साल की योजना का समापन है। मुझे यकीन है कि हमारी चयन समिति ने खिलाडिय़ों के सही समूह का चयन किया है। अब यह खिलाडिय़ों पर निर्भर करता है कि वे योजना को अमलीजामा पहनाएं। इस तरह के टूर्नामेंट में थोड़े भाग्य की भी जरूरत होती है।

.
.
.
.
.