Sports

कराची : टी-20 क्रिकेट में पाकिस्तानी टीम भले ही टॉप पर हो लेकिन टेस्ट क्रिकेट में उनका निम्र स्थान अब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को अखरने लगा है। बोर्ड ने युवाओं का टी-20 की बजाय टेस्ट की ओर ध्यान दिलाने के लिए अब भारतीय क्रिकेटर राहुल द्रविड़ वाला फार्मूला अपना लिया है। दरअसल राहुल द्रविड़ बीते साल भारतीय जूनियर टीम के कोच बने थे। इस दौरान भारतीय टीम ने अंडर-19 विश्व कप जीता। जूनियर टीम अब टेस्ट मैच खेलने दूसरे देशों में जा रही है। ऐसे में उम्मीद है कि भारत को टेस्ट क्रिकेट के लिए आगे भी क्रिकेटर मिलते रहेंगे। पाक बोर्ड इसी स्थिति को देखने हुए अपने युवा क्रिकेटरों को प्रेरित करने के अलावा दिग्गज पाकिस्तानी क्रिकेटर की सेवाएं लेने जा रहा है। 
Pakistan cricket board Adopt formula of rahul dravid by BCCI
पाक क्रिकेट बोर्ड ने इसी कड़ी में सबसे पहले नाम चुना है युनिस खान का। पूर्व कप्तान युनिस को अंडर-19 टीम का कोच और मैनेजर बनाने पर विचार किया जा रहा है। पिछले साल क्रिकेट को अलविदा कहने वाले यूनिस ने टेस्ट में 10000 रन बनाए हैं। उन्होंने कहा था कि अपना कार्यक्रम लागू करने की पूरी छूट मिलने पर वह जूनियर टीम के कोच बन सकते हैं।
Pakistan cricket board Adopt formula of rahul dravid by BCCI
पीसीबी अध्यक्ष एहसान मनी ने कहा- आस्ट्रेलिया ने रोडने मार्श, एलेन बार्डर और रिकी पोंङ्क्षटग जैसे खिलाडिय़ों की सेवाएं ली। भारत ने भी राहुल द्रविड़ को अंडर 19 टीम की जिम्मेदारी सौंपी और नतीजे अच्छे रहे।  द्रविड़ के कोच रहते भारतीय अंडर-19 टीम ने पिछले साल विश्व कप जीता। मनी ने लाहौर में पत्रकारों से कहा कि बोर्ड ने युवाओं के साथ काम करने के लिए पूर्व सीनियर खिलाडिय़ों की सेवाएं लेने का फैसला किया है। उन्होंने कहा- हमें अपने खिलाडिय़ों को राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में तैयार करना होगा। वे देश की नुमाइंदगी करते हैं। हमें विदेशी कोचों के साथ भारत की तरह अपने कोचों को भी लगाना होगा।

.
.
.
.
.