Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेले गए आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 के फाइनल मैच (14 जुलाई) में कीवी खिलाड़ी मार्टिन गुप्टिल द्वारा फेंकी गई ओवरथ्रो की समीक्षा की जाएगी। मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (MCC) ने इस पर फैसला लेते हुए कहा कि सितंबर में वर्ल्ड कप के 12वें सीजन के फाइनल में मार्टिन गप्टिल के थ्रो पर बेन स्टोक्स को दिए गए 6 रन की समीक्षा की जाएगी। 

PunjabKesari

एमसीसी द्वारा जारी किए गए एक आधिकारिक बयान के मुताबिक वर्ल्ड क्रिकेट कमेटी (डब्ल्यूसीसी) ने वर्ल्ड कप के फाइनल के ओवरथ्रो के बारे में 19.8 नियम के बारे में बात की है। उनके मुताबिक नियम स्पष्ट है लेकिन ये भी कहा कि सितंबर में इस मामले में समीक्षा होनी चाहिए। 

गौर हो कि वर्ल्ड कप के फाइनल मैच में इंग्लैंड की टीम को जीतने के लिए 3 गेंदों में 9 रन की जरूरत थी। इस दौरान बेन स्टोक्स ने गेंद को मिड विकेट पर खेला था और गेंद मार्टिन गप्टिल के हाथों में जाने के बाद उन्होंने थ्रो फैंका तो गेंद दूसरा रन ले रहे बेन स्टोक्स के बल्ले से लगकर बाउंड्री के पार चली गई। इस पर अंपायर ने 6 रन दे दिए। इसमें दो रन दौड़ने और 4 रन बाउंड्री (ओवरथ्रो) के शामिल थे। ये मैच का टर्निंग प्वाइंट रहा और मैच टाई हो गया। इसके बाद सुपर ओवर में भी मैच टाई होने के बाद ज्यादा बाउंड्री लगाने के बाद इंग्लैंड पहली बार विश्व विजेता बना। हालांकि मैच के बाद कई दिग्गजों ने माना कि उस ओवरथ्रो के 5 रन बनते थे न कि 6। 

.
.
.
.
.