Sports

जालन्धर : दिसंबर 2015 में आज ही के दिन वह ऐतिहासिक टेस्ट खेला गया था जब भारतीय बल्लेबाजों विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा, शिखर धवन और मुरली विजय ने भी बॉलिंग की थी। यह मौका था दिल्ली में साऊथ अफ्रीका के खिलाफ खेले गए चौथे टेेस्ट का। इस मैच में भले ही टीम इंडिया 337 रनों के विशाल स्कोर से जीत गई लेकिन यह टेस्ट अभी भी दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों की जुझारू पारियों के लिए जाना जाता है। यह वही मैच है जिसमें दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों बुवुमा, हामिश अमला, एबी डीविलियर्स और फॉफ डू प्लेसिस ने चार सेशन तक बल्लेबाजी कर अपनी टीम की हार टालने की कोशिश की थी। 

अजिंक्य रहाणे ने दोनों पारियों में बनाए शतक

only one match when kohli, dhawan, murali vijay & pujara could bowl

दरअसल, दिल्ली की धरती पर भारत ने पहले खेलते हुए अजिंक्य रहाणे के शतक की बदौलत 334 रन बनाए थे। जवाब में खेलने उतरी दक्षिण अफ्रीका की टीम रवींद्र जडेजा की फिरकी के आगे महज 121 रन पर ही बिखर गई। केवल डीविलियर्स ही अपनी टीम के लिए सर्वाधिक 42 रन बना पाए। पहले पारी में लीड मिलने के बाद भारत ने दूसरी पारी में फिर से रहाणे की शतक की बदौलत 267 रन बना लिए। इस तरह भारत ने दक्षिण अफ्रीका के सामने 480 रन की असाधारण लक्ष्य रख दिया। 

दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों ने की डेढ़ दिन बल्लेबाजी

only one match when kohli, dhawan, murali vijay & pujara could bowl

मैच खत्म होने का डेढ़ दिन बाकी था। ऐसे में दक्षिण अफ्रीका के धाकड़ बल्लेबाजों ने अपने स्वभाव के उलट बल्लेबाजी की। कप्तान हाशिम अमला के नेतृत्व में दक्षिण अफ्रीका ने टेस्ट ड्रा करने के लिए खेलना शुरू कर दिया। दक्षिण अफ्रीका शुरू से ही इतने डिफैंसिव मोड में चला गया कि पहले 43 ओवरों में उन्होंने सिर्फ 49 रन ही बनाए थे। इसके बाद डीविलियर्स और अमला में वो साझेदारी हुई जो इतिहास बन गई। दोनों ने सिर्फ 27 रन जोड़े लेकिन यह रन बनाने के लिए 253 गेंदें खेल डाली। अमला जब 25 रन बनाकर आऊट हुए तो डीविलियर्स ने फाफ डु प्लेसिस के साथ पारी आगे बढ़ा ली। 

डीविलियर्स ने रिकॉर्ड 354 मिनट तक की बल्लेबाजी

only one match when kohli, dhawan, murali vijay & pujara could bowl

उक्त मैच में बुवुमा ने 117 गेंदों में 34, हाशिम अमला ने 244 गेंदों में 25, एबी डीविलियर्स ने 297 गेंदों में 43 तो फाफ डु प्लेसिस ने 97 गेंदों में 10 रन बनाए थे। बुवुमा ने क्रमश: 153, अमला ने 289, डीविलियर्स ने 354 तो फाफा डु प्लेसिस ने 120 मिनट क्रीज पर बिताए। हालांकि इन दिग्गजों की पारी दक्षिण अफ्रीका को हार से नहीं बचा पाई और पूरी टीम 143 रनों पर आऊट हो गई। इस पारी की सबसे बड़ी बात यह रही थी दक्षिण अफ्रीका ने 143 रन 143 ओवरों में ही बनाए थे। 

रवींद्र जडेजा ने 46 में से 33 ओवर मेडन फेंकी

only one match when kohli, dhawan, murali vijay & pujara could bowl

वहीं, भारतीय गेंदबाजी अगर बात की जाए तो ऐसा कोई बॉलर नहीं था (धवन को छोड़कर) जिसने 2 से ज्यादा की औसत से रन दिए हो। रवींद्र जडेजा तो रन देने के मामले में बेहद कंजूस निकले। उन्होंने अपने 46 ओवरों में 25 रन देकर दो विकेट झटके। जडेजा ने इन 46 ओवरों में 33 मेडन भी फैंकी। इसके अलावा अश्विन ने 49 ओवरों में 26 मेडन के साथ 61 रन देते हुए पांच महत्वपूर्ण विकेट झटके थे। वहीं उमेश यादव ने भी अपने 21 ओवरों में 16 मेडन फैंकते हुए 9 रन देकर तीन विकेट झटके थे।

.
.
.
.
.