Sports

स्पोर्ट्स डेस्क:  35 साल के तेज गेंदबाज मुनाफ पटेल ने क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। 2011 में भारत को विश्व विजेता बनाने में इन्होंने अहम भूमिका निभाई थी। सचिन तेंदुलकर को अपनी गेंदबाजी से प्रभावित करने वाले मुनाफ पटेल ने 2003 में राजकोट में मेहमान टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत ए की ओर से खेलते हुए फर्स्ट क्लास क्रिकेट में कदम रखा था।
sports news. cricket news hindi, indian cricketer, Fast bowler, Munaf Patel, Goodbye to cricket, 2011 World Cup Winners Team, member
एक अखबार के मुताबिक, दाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को तो अलविदा कह दिया है, लेकिन क्रिकेट का मैदान नहीं छोड़ेंगे। मुनाफ अब आने वाली टी10 लीग का हिस्सा होंगे, जहां वह राजपूत टीम की ओर से खेलेंगे।
sports news. cricket news hindi, indian cricketer, Fast bowler, Munaf Patel, Goodbye to cricket, 2011 World Cup Winners Team, member
मुनाफ को अपने डेब्यू के तीन साल बाद भारत की टेस्ट टीम में खेलने का मौका मिला। 2006 में उन्होंने डरबन में साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में पर्दापण किया। इसके एक माह बाद उन्होंने वनडे क्रिकेट में डेब्यू किया। हालांकि, पटेल का करियर ज्यादातर चोटों से प्रभावित रहा, जिसके कारण वह 13 टेस्ट और 70 वनडे मैच ही खेल सके। उन्होंने अपना आखिरी इंटरनेशनल मुकाबला 2011 में खेला था। पटेल ने तीन टी20 मैच भी खेले हैं।
sports news. cricket news hindi, indian cricketer, Fast bowler, Munaf Patel, Goodbye to cricket, 2011 World Cup Winners Team, member
पटेल ने कहा कि इस समय संन्यास लेने का उन्हें कोई दुख नहीं हैं, क्योंकि उन्होंने जिन खिलाड़ियों के साथ क्रिकेट खेला है, वे सभी संन्यास ले चुके हैं। उनमें से सिर्फ धोनी ही हैं, जो अभी तक खेल रहे हैं। बाकी सब डन हो चुके हैं, इसीलिए कोई दुख नहीं हैं। पटेल ने कहा कि गम उस समय होता, जब सभी खेल रहे होते और मैं संन्यास लेता।
sports news. cricket news hindi, indian cricketer, Fast bowler, Munaf Patel, Goodbye to cricket, 2011 World Cup Winners Team, member
संन्यास लेने के अपने फैसले पर पटेल ने कहा कि कोई खास कारण नहीं है। उम्र हो चुकी है, फिटनेस भी पहली जैसी नहीं हैं। युवा मौकों का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरे लिए सबसे बड़ी उपलब्धि तो यही है कि मैं 2011 विश्व कप विजेता टीम का सदस्य रहा।

.
.
.
.
.