IPL 2019
Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियन सौरभ वर्मा ने मदद की गुहार लगाते हुए वित्तीय सहायता की मांग की है। इसके पीछे सौरभ का मकसद ज्यादा इंटरनेशनल टूर्नामैंट्स में भाग लेना और अपनी मौजूदा वर्ल्ड रैंकिंग को मजबूत करना है। 26 साल के सौरभ ने वर्ष 2011 में पहला सीनियर राष्ट्रीय खिताब जीता था, लेकिन प्रशिक्षण पर लगातार ब्रेक ने उन्हें टूर्नामेंट खेलने से रोका। इसका सीधा असर सौरभ की रेंकिंग पर भी बड़ा जिस कारण जहां 2012 में वह 30वें नम्बर पर थे, वहीं अब 55वें नम्बर पर आ गए हैं। 

NBC Player sourabh said I need funds to play Intl tournaments

सौरभ के मुताबिक मेरे पास इंटरनेशनल टूर्नामेंट्स खेलने के लिए वित्तिय सपोर्ट नहीं हैं। अब नए नियमों के मुताबिक टाॅप 25 खिलाड़ियों को ही बैडमिंटन एसोसिएशन ऑफ इंडिया (BAI) की तरफ से वित्तिय सहायता उपलब्ध करवाई जा रही है। इस कारण मेरा अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शन कम हो गया और मेरी रैंकिंग भी फिसल रही है। सौरभ के मुताबिक BAI डच ओपन टूर्नामेंट के लिए उसे स्पांसर तो कर रहा है लेकिन उसे और फंडिंग की जरूरत है। उनके मुताबिक डच टूर्नामेंट के लिए BAI ने मेरी परफार्मैंस के आधार पर स्पांसर किया है लेकिन अगर और वित्तिय सहायता मिल जाए तो मैं और भी बेहतर कर सकता हूं।

NBC Player sourabh said I need funds to play Intl tournaments

सौरभ के मुताबिक रैंकिंग में सुधार करने के लिए मुझे कम से कम 10-12 टूर्नामैंट्स और खेलने की जरूरत है। सौरभ के मुताबिक एक प्लेयर के तौर पर सब कुछ खुद ही मैनेज करना बेहद मुश्किल है। उसके मुताबिक अगले दो टूर्नामैंट्स (स्विस ओपन और ओर्लांस ओपन) के लिए ट्रेवल का इंतजाम होना चाहिए।

.
.
.
.
.