Sports

नई दिल्लीः भारतीय ओलंपिक संघ ( आईओए ) के अध्यक्ष नरेन्द्र बत्रा ने आज यहां कहा कि तोक्यो ओलंपिक में देश का लक्ष्य ‘ दोहरे अंकों ’ में पदक जीतने का होना चाहिए जबकि पेरिस में होने वाले 2024 ओलंपिक में लगभग 25 पदक जीतने का लक्ष्य होना चाहिए।  आईओए के अध्यक्ष को लगता है कि ओलंपिक में अच्छा प्रदर्शन 2032 ग्रीष्मकालीन खेलों की मेजबानी के दावे के लिए लोगों का समर्थन प्राप्त करने में मदद करेगा। 

पेरिस ओलंपिक में जीतने हैं 25 पदक
बत्रा ने पिछले महीने भारत के दौरे पर आए अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष थामस बाक से कहा था कि भारत 2032 ओलंपिक, 2026 युवा ओलंपिक और 2030 एशियाई खेलों की मेजबानी का दावा पेश करेगा। बत्रा ने कहा, ‘‘ तोक्यो (2020) ओलंपिक में हमारा लक्ष्य दोहरे अंकों में पदक जीतने पर होना चाहिए और 2024 पेरिस ओलंपिक में लगभग 25 पदक जीतने पर होना चाहिए। हम 2032 ओलंपिक की मेजबानी का दावा पेश करने चाहते है और इसके लिए हमे ऐसा प्रदर्शन चाहिए होगा। अगर हमने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया और ओलंपिक में पदक नहीं जीते तो लोगों का समर्थन हासिल करना मुश्किल होगा। ’’ 

उन्होंने राष्ट्रमंडल खेलों में पदक जीते बैडमिंटन खिलाडिय़ों के सम्मान समारोह में कहा, ‘‘ हमें 2020 और 2024 ओलंपिक के लिए योजना बनाना है और देश में प्रतिभा खोजना है। इस काम को राष्ट्रीय संघों और सरकार को साथ मिलकर करना होगा। हमें सरकार के साथ काम करना है क्योंकि उनके पास टारगेट ओलंपिक पोडियम स्कीम जैसी योजनाएं हैं। ’’ 
 

.
.
.
.
.