Sports

जालन्धर : मुरली विजय ने ऑस्ट्रेलिया इलेवन के खिलाफ खेले जा रहे चार दिवसीय प्रैक्टिस मैच के दौरान तूफानी पारी खेलकर सबका ध्यान अपनी ओर खींच लिया है। दरअसल इंगलैंड दौरे पर नाकाम रहने के कारण मुरली को टीम से बाहर कर दिया गया था। ऐसे में ऑस्ट्रेलिया जैसे महत्वपूर्ण टूर के लिए बतौर ओपनर उनकी खराब फॉर्म चिंता का विषय बनी हुई थी। लेकिन अब ऑस्ट्रेलिया इलेवन के खिलाफ उन्होंने शतक लगाकर फॉर्म में वापसी के शुभ संकेत दे दिए हैं। मुरली ने 129 रन की अपनी पारी के दौरान स्टेडियम में पहुंचे दर्शकों को ट्वंटी-20 का अहसास दिलाया। मुरली ने पहले 50 रन 91 गेंद में और दूसरे सिर्फ 27 गेंद में बनाए।

मुरली ने लगाए 16 चौके, 5 छक्के
PunjabKesarisports Murli Vijay

फिफ्टी बनाने के बाद मुरली ने अपने डिफैंस मोड को अचानक अटैकिंग पर मोड़ लिया। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज जैक कार्डर की तो अच्छे से खबर ली। उन्होंने जैक के एक ओवर में 26 रन बना दिए। इसमें तीन चौके, दो छक्के भी शामिल थे। मुरली ने कुल 132 गेंदों में 16 चौकों और पांच छक्कों की मदद से 129 रन बनाए। मुरली जब बोल्ड हुए तो दोनों टीमों ने सहमति से मैच को ड्रा घोषित कर दिया।

बीसीसीआई सिलेक्शन कमेटी से की थी नाराजगी जाहिर

PunjabKesarisports Murli Vijay
मुरली विजय उन क्रिकेटरों में से एक हैं जिन्होंने बीसीसीआई सिलेक्शन कमेटी के काम पर सवाल उठाए थे। दरअसल भारतीय टेस्ट टीम से तिहरा शतक लगाने वाले करुण नायर को बाहर कर दिया गया था। नायर का कहना था कि उन्हें बिना टीम में खिलाए बाहर निकाला जा रहा है। उन्होंने बीसीसीआई सिलेक्शन कमेटी पर बाहर निकालने की वजह तक न बताने का आरोप लगाया था। वहीं, इसी क्रम में मुरली विजय ने भी इंगलैंड के दौरे पर खराब प्रदर्शन करने पर वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज में न चुनने पर कुछ सवाल उठाए थे। मुरली का कहना था कि अगर बीसीसीआई सिलेक्शन कमेटी उन्हें टीम  से बाहर करती है तो इसकी उन्हें जानकारी क्यों नहीं दी जाती। दोनों क्रिकेटर्स ने बीसीसीआई के खराब कोऑर्डिनेशन पर सवाल उठाए थे।

.
.
.
.
.